Saturday , August 19 2017
Home / Delhi News / राष्ट्रपति चुनाव: आंकड़े हमारे हक़ में नहीं, लेकिन लड़ाई पूरी ताक़त के साथ लड़ना होगा: सोनिया गांधी

राष्ट्रपति चुनाव: आंकड़े हमारे हक़ में नहीं, लेकिन लड़ाई पूरी ताक़त के साथ लड़ना होगा: सोनिया गांधी

नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने मौजूदा हालात पर गहरी चिंता व्यक्त करते हुए आज कहा कि देश के संविधान और कानून खतरे में है। विपक्षी दलों के राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति पद के उम्मीदवार हमें इस खतरे से बाहर निकालने के लिए अत्यधिक योग्य साबित होंगे।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

श्रीमती गांधी ने राष्ट्रपति चुनाव की पूर्व संध्या विपक्षी दलों के सांसदों की बैठक में विपक्ष के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार मीरा कुमार और उप राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार गोपाल कृष्ण गांधी का परिचय कराते हुए कहा कि दोनों नेता अनुभवी और संविधान विशेषज्ञ हैं। यह देश को इस खतरे से बाहर निकाल सकते हैं। देश के सर्वश्रेष्ठ राष्ट्रपति और बेहतरीन उपराष्ट्रपति साबित हो सकते हैं।

उन्होंने कहा कि देश के हालात बेहद चिंताजनक हैं। देश का भविष्य और संवैधानिक मूल्य दांव पर है, इनकी रक्षा करना, इन नियमों के मानने वालों की जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि हालांकि इस चुनाव में आकंडे हमारे पक्ष में नहीं हूँ लेकिन लड़ाई पूरी ताकत के साथ ज़रूर लड़ी जानी चाहिए. हिंदुस्तान को उनकी रहम व करम पर नहीं छोड़ सकते जो देश पर तंग नज़रिए और फूट डालने वाली सांप्रदायिक सोच थोपना चाहते हैं।

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि विपक्ष के सांसदों की यह बैठक न केवल देश की विविधता लोकतंत्र की रक्षा के लिए है, बल्कि विपक्ष की एकता और सामूहिक सोच को दर्शाता है

TOPPOPULARRECENT