Monday , August 21 2017
Home / India / यहां 36 साल बाद सबसे अधिक 44 डिग्री तापमान, फिर भी नन्हे रोज़ेदारों ने रखा रोज़ा

यहां 36 साल बाद सबसे अधिक 44 डिग्री तापमान, फिर भी नन्हे रोज़ेदारों ने रखा रोज़ा

जयपुर: राजस्थान की राजधानी जयपुर सहित राज्य भर में मुस्लिम समाज का मामूल बदल गया है। रमजान के पहले दिन समाज के लोगों ने सुबह तीन बजे उठकर पहले रमजान की सेहरी और 44 से अधिक तापमान के बावजूद 15 घंटे 23 मिनट का रोज़ा रखा। कमाल की बात तो यह है कि इन रोजेदारों में नन्हे रोजेदार की संख्या भी काफी थी.

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

दिन भर तपा देने वाली धूप, प्यास और भूख की शिद्दत के साथ सभी मुसलमान अल्लाह को राज़ी करने के लिए अगले एक महीने तक रोज़ा रखेंगे। शाम को इफ्तार के समय बाजारों में रौनक और काफी भीड़ नज़र आई।

न्यूज़ नेटवर्क समूह न्यूज़ 18 के अनुसार यहाँ के मुसलमान लोग सुबह से पहले शीरमाल, फैनी, ब्रैड जैसे हल्के पकवानों से सहरी करते हैं। सहरी के बाद मस्जिदों में नमाजियों की लंबी लंबी कतारें भी नज़र आने शुरू हो गए हैं।रमज़ान का पवित्र महीना शुरू होने के साथ ही इबादतों का दौर भी शुरू हो गया है। घरों में भी महिलायें अधिकांश समय इबादतों में ही बिता रही हैं।

परिवार के साथ इफ्तार का अपना अलग ही एक मज़ा है। रमजान के पहले जुमा की नमाज 2 जून को होगी, जिसकी विशेष तैयारी सभी मस्जिदों में की जाएगी। उस दिन बहुत बड़ी संख्या में मुसलमान भाई रोज़ा रखकर मस्जिदों में अल्लाह की इबादत करेंगे।

शहर के काजी के अनुसार इस महीने में अल्लाह की इबादत करने के लिए अल्लाह की रहमत बरसती है। क्योंकि रमजान में खाना-पीना छोड़ कर अल्लाह की इबादत करने का महीना है।

TOPPOPULARRECENT