Friday , July 21 2017
Home / Khaas Khabar / ‘यूपी में मुसलमानों का आरक्षण खत्म करने की ख़बर फ़र्ज़ी’

‘यूपी में मुसलमानों का आरक्षण खत्म करने की ख़बर फ़र्ज़ी’

उत्तरप्रदेश में मुसलमानों के लिए 20 फीसदी कोटा ख़त्म करने को लेकर आईं ख़बरों को सरकार ने नकार दिया है । सोमवार को समाज कल्याण मंत्री रमापति शास्त्री ने कहा कि सरकार के पास ऐसा कोई प्रस्ताव नहीं है और मीडिया में चल रही खबरें गलत हैं।

इससे पहले खबर आई थी कि योगी सरकार पूर्व की एसपी सरकार की एक और योजना पर कैंची चलाने वाली है और सरकारी योजनाओं में मुस्लिमों को मिलने वाली आरक्षण को ख़त्म करने वाली है।

2012 में समाजवादी पार्टी की सरकार बनते ही तत्कालीन सीएम अखिलेश यादव ने घोषणा की थी कि सरकार की योजनाओं में 20 फीसदी लाभ मुसलमानों को दिया जाएगा। उत्तर प्रदेश में बीजेपी की सरकार बनते ही कयास लगाये जा रहे थे कि सरकार ऐसी योजनाओं को बंद कर सकती है।

समाज कल्याण मंत्री रमापति शास्त्री ने बयान दिया था कि सरकार की योजनाओं में आरक्षण देना ठीक नहीं है, और सरकार की ओर से ऐसी कोशिश जनता के बीच भेदभाव को बढ़ावा देती है, लिहाजा इसे खत्म करने की जरूरत है। रमापति शास्त्री ने कहा था कि उनकी सरकार सभी का साथ और सभी का विकास चाहती है और बिना कोटे के ही देश के अल्पसंख्यकों का विकास किया जाएगा ।

समाजवादी पार्टी ने कहा कि दरअसल योगी आदित्यनाथ सरकार इस समय गहरे संकट से जूझ रही है। सहारनपुर दंगे हों, या नोएडा में गोरक्षकों की गुंडागर्दी का मामला हो, या मासूम बच्चियों के साथ हो रहे बलात्कार को रोकने में योगी सरकार आसफल रही है। वह इन घटनाओं से लोगों का ध्यान भटकाने के लिये इस तरह के हथकंडों को अपना रही है।

TOPPOPULARRECENT