Tuesday , August 22 2017
Home / India / भोपाल: ‘ज़ाहिदा खान’ नाम सुनते ही मकान मालिक ने मकान बेचने से किया इंकार

भोपाल: ‘ज़ाहिदा खान’ नाम सुनते ही मकान मालिक ने मकान बेचने से किया इंकार

भोपाल- धर्म के नाम पर भेदभाव के मामले अकसर सामने आते हैं। ताज़ा मामला भोपाल का है जहां एक महिला को फ्लैट बेचने से मकान मालिक ने इसलिए इंकार कर दिया क्योंकि वो मुस्लिम थी । ज़ाहिदा खान नाम की महिला का कहना है कि उसके पास मकान मालिक के साथ हुई बातचीत की रिकॉर्डिंग है जिसके आधार पर वो प्रशासन से शिकायत करेगी ।

ज़ाहिदा खान का आरोप है कि होशंगाबाद रोड पर हिंदू बहुसंख्यक आवासीय काम्प्लेक्स में उन्हें फ्लैट पसंद आया था क्योंकि वहां काफी अच्छी सुविधाएं थी लिहाज़ा उन्होंने वहां फ्लैट खरीदने का फैसला किया। शिकायतकर्ता का कहना है कि मकान खरीदने की डील होने ही वाली थी तभी मकान मालिक ने उनका नाम पूछा जैसे ही उन्होंने अपना नाम ज़ाहिदा खान बताया,  मकान मालिक ने साफ़ साफ़ कह दिया कि वो मुस्लिम को मकान नहीं बेचते हैं ।

खान ने बताया की यह सॉसायटी काफ़ी अच्छी है जिसमें सब सुविधाएँ हैं। जब मैं वहाँ गयी तो उन्होंने मुझे वो जगह दिखायी और बस डील फ़ाइनल होने हाई वाली थी तब उन्होंने मुझसे मेरा नाम पूछा। जैसे ही मेने नाम बताया मकानमालिक ने तपाक से मेरे मुँह पर कहा की हम मुसलमानो को मकान नहीं बेचते हैं।

ज़ाहिदा ने मकान मालिक से दोबारा बात करने की कोशिश की लेकिन उनका जवाब नहीं बदला। मकान मालिक के इस भेदभाव वाले रवैये से आहत ज़ाहिदा खान  ने मप्र मानवाधिकार आयोग में शिकायत की है। ज़ाहिदा इसे मानवाधिकारों का हनन कह रही हैं, उन्होंने कहाकि इस तरह से किसी कॉलोनी से धर्म के आधार पर उन्हें मकान ना देना उनके मौलिक अधिकारों का भी हनन है ।

हालाँकि मीनाक्षी प्लेनेट सिटी हाउज़िंग काम्प्लेक्स के अधिकारी राजेंद्र सिंह ने बताया की कॉलोनी में ज़्यादातर लोग हिंदू है और यहां धर्म के आधार पर कोई भेदभाव नहीं होता है  । अब देखना ये है कि ज़हिदा के आरोपों पर क्या कार्रवाई होती है।

TOPPOPULARRECENT