Sunday , July 23 2017
Home / India / धर्म के नाम पर हिंसा फैलाने में भारत दुनिया में चौथे पायदान पर, सीरिया पहले नंबर पर

धर्म के नाम पर हिंसा फैलाने में भारत दुनिया में चौथे पायदान पर, सीरिया पहले नंबर पर

अमेरिकन थिंक टैंक प्यू रिसर्च सेंटर की एक ताजा रिपोर्ट में धार्मिक हिंसा के मामले में भारत को चौथे पायदान पर रखा गया है। इस रिपोर्ट में सीरिया पहले नंबर पर है।

प्यू रिसर्च की इस सालाना रिपोर्ट में कहा गया है कि धर्म के नाम पर हिंसा फैलाने में सीरिया के बाद नाइजीरिया और इराक का नंबर है और चौथे नंबर पर भारत है।

रिसर्च के मुताबिक, साल 2014 के बाद से भारत की रैंकिंग तेजी से बिगड़ गई है।

रिसर्च को समुदायों के बीच दुश्मनी, धार्मिक नफरत, सांप्रदायिक हिंसा, आतंकवादी समूहों से प्रेरित हिंसा, धर्म के नाम पर महिलाओं पर लगाई गई पाबन्दी और उत्पीड़न सहित 13 बिंदुओं के आधार पर तैयार किया गया है।

अध्ययन के प्रमुख शोधकर्ता कैटायुन किशी ने बताया कि हिंदुओं और मुसलमानों के बीच रिश्तों में आई कड़वाहट की वजह से भारत की रैंकिंग ख़राब हुई है। सामाजिक दुश्मनी सूचकांक से पता चलता है कि धार्मिक समूहों के बीच तनाव के परिणामस्वरूप हिंसा की घटनाएं हुईं।

रिपोर्ट में धर्म के आधार पर रीति-रिवाज़ और परम्पराओं पर प्रतिबंध लगाने के सरकार के फैसले को भी शामिल किया गया है।

मसलन बीफ़ पर प्रतिबंध से ईद अल-अज़हा पर बेहद बुरा असर पड़ेगा, वहीँ देश में ईसाइयों के खिलाफ बढ़ती हिंसा और उसपर पुलिस के उदासीन रवैये से भी देश की एकता और भाईचारे की डोर कमज़ोर हुई है।

 

TOPPOPULARRECENT