Tuesday , July 25 2017
Home / India / भोपाल- सुरक्षा का हवाला देकर अफ़सर ने महिलाओं के चेहरे से जबरन हटवाए नक़ाब

भोपाल- सुरक्षा का हवाला देकर अफ़सर ने महिलाओं के चेहरे से जबरन हटवाए नक़ाब

भोपाल- अगर आप भोपाल की लॉ फ्लोर बसों में सफ़र कर रहे हैं तो ध्यान रखिएगा कि कहीं आपके चेहरे पर नकाब या स्कार्फ़ तो नहीं है । दरअसल भोपाल में लो-फ्लोर बसों में नकाब और स्कॉर्फ को बैन कर दिया गया है ।
इसको लेकर कोई आधिकारिक आदेश जारी नहीं हुए लेकिन भोपाल सिटी लिंक लिमिटेड (BCLL) के डायरेक्टर केवल मिश्रा ने खुद बसों में जा-जाकर महिलाओं के नकाब और स्कॉर्फ उतरवाए। केवल मिश्रा ने महिलाओं से कहाकि वो बसों में चेहरे को ढांककर ना सफ़र करें।
केवल मिश्रा का कहना है कि यह महिलाओं की सुरक्षा के लिए अच्छा होगा। उनके बीच चेहरा छुपाकर असामाजिक तत्व भी हो सकते हैं और अपराधिक गतिविधियों को अंजाम दे सकते हैं। बसों में सीसीटीवी लगे हैं लेकिन चेहरा छुपा होने की वजह से किसी की भी पहचान करना मुश्किल होती है, हालांकि भोपाल में मुस्लिम आबादी काफ़ी है तो बसों में सफ़र करने के दौरान नकाब हटाने से विवाद की स्थिति भी खड़ी सकती है ।

 

चार दिन पहले महापौर स्मार्ट पास की जांच के लिए कंडक्टर ने महिलाओं से स्कार्फ उतारने की बात कही तो एक महिला ने पुलिस को बुला लिया। इसके बाद बीसीएलएल के अधिकारियों ने पुलिस को बताया कि महापौर स्मार्ट पास की जांच के लिए आईडी प्रूफ देखना जरूरी है, ताकि पास का दुरुपयोग न हो।
पास में पीछे शर्तें लिखी भी गई हैं कि बस में पास दिखाने पर आईडी पू्रफ दिखाना अनिवार्य होगा। चेहरा ढका होने से यह पता नहीं चल पाता कि पास का उपयोग पात्र व्यक्ति कर रहा है या अन्य। इस समस्या के बाद बीसीएलएल के डायरेक्टर ने जांच शुरू की।
निगम कमिश्नर छवि भारद्वाज और केवल मिश्रा के लगातार निर्देश के बाद भी बसों में सीसीटीवी की हालत में सुधार नहीं किया गया। शनिवार को जांच के दौरान एक बस में कैमरा चालू मिला लेकिन इसकी लाइट बंद थी। वहीं कुछ बसों में कैमरा था ही नहीं, हालांकि कहा गया कि कैमरा रिपेयरिंग के लिए निकाला गया है । जिसके बाद डायरेक्टर ने ऑपरेटर से जवाब मांगा साथ पैनाल्टी लगाने के निर्देश दिए । मिश्रा ने सख़्त निर्देश देते हुए कहा कि बिना सीसीटीवी कैमरों के कोई भी बस सड़क पर न उतारी जाए ।

दो महीने पहले रॉयल मार्केट के पास लो फ्लोर बस में कुछ बदमाशों ने एक व्यक्ति की चाकू से गोदकर हत्या कर दी थी। बस के सीसीटीवी कैमरे खराब थे। हालांकि पुलिस ने बाद में बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया था। इस घटना के बाद सभी बसों में कैमरा अनिवार्य रूप से चालू कराने के निर्देश दिए गए थे।

TOPPOPULARRECENT