Monday , July 24 2017
Home / Uttar Pradesh / …तो योगी राज में ऐसे हो रहा है एक्सीडेंट में घायल लोगों का इलाज, पुलिस और डॉक्टर दोनों लापरवाह

…तो योगी राज में ऐसे हो रहा है एक्सीडेंट में घायल लोगों का इलाज, पुलिस और डॉक्टर दोनों लापरवाह

मेरठ: हादसों में ना जाने कितने लोग मौत के मुंह से बचाए जा सकते हैं अगर उन्हें वक़्त पर इलाज मिल जाए। लेकिन अक्सर होता यह है कि लोग तमाशबीन बने देखते रहते हैं। इस बार अब पुलिस और डॉक्टर्स पर सवालिया निशान लगा है। घटना है मेरठ ज़िला अस्पताल के बाहर की।

मामला कुछ यूँ है कि रोड एक्सीडेंट में गंभीर रुप से घायल युवक को पुलिस मेरठ ज़िला अस्पताल लेकर पुहंचती है। अस्पताल में अव्यवस्थाओं का आलम देखिए कि घायल को इमरजेंसी वार्ड में ले जाने के लिए एक स्टेचर तक नहीं मिला और ना ही कोई कर्मचारी मदद को आया।

पुलिसकर्मियों की संवेदनहीनता का अंदाज़ा इसी बात से लगाया जा सकता है कि उन्होंने घायल युवक को ज़मीन में ही लिटा दिया और उससे नाम पता पूछने लगे।

पुलिस ने बताया कि रोड एक्सीडेंट में घायल युवक को उठाकर अस्पताल लेकर आए हैं लेकिन डॉक्टरों ने पर्चा नहीं होने की वजह से इलाज करने से ही मना कर दिया ।

मीडिया ने जब पूरा वाक़या कैमरे कैद करना शुरू किया तो पुलिस वालों को अपना कर्तव्य याद आ गया। बाद इसके वह तुरंत स्टेचर लेने भागते नज़र आए और खुद ही घायल को लेटाकर ले जाने लगे।

पत्रकार जब बिना पर्चे के घायल को देखने से इंकार करने वाले डॉक्टर से मिलने पहुंचे तो जनाब अपनी सीट से गायब होकर अंदर बने रूम में लाइट ऑफ करके आराम फरमा रहे थे। जब उनको जानकारी हुई की मीडिया के लोग उनसे मिलने आए है तो अंदर जाने नहीं देकर बाहर सीट पर विराजमान हो गए।

जब डॉक्टर से बिना पर्चे के घायल युवक को ना देखने की बात कही तो साफ मुकर गएं। और कहा कि मेरे सामने ऐसी बात नहीं आई है। उन्होंने कहा कि पुलिस वाले जरूर आए थे पर मरीज़ साथ नहीं लाए थे। इसी दौरान पुलिस और डॉक्टर एक-दूसरे को अपने अपने नियम कानून बताने में लग गए।

इस बीच डॉक्टर से जब पूछा गया कि पर्चा होने या न होने के बीच अगर घायल युवक की जान चली जाए तो इस बात का कौन जिम्मेदार होगा तो डॉक्टर ने अपनी सफाई देते हुए कहा कि घायल युवक मेरे पास नहीं लाया गया।

डॉक्टर के केबिन  मात्र 5 कदम की दूरी पर ही घायल युवक जमीन पर पड़ा था, मगर डॉक्टर साब ने एक बार भी बाहर जाकर घायल युवक की हालात जानना सही नहीं समझा।

TOPPOPULARRECENT