Friday , October 20 2017
Home / Khaas Khabar / SC में मर्द वकील करते हैं अश्लील हरकतें, ख्वातीन वकीलों ने लगाया इल्ज़ाम

SC में मर्द वकील करते हैं अश्लील हरकतें, ख्वातीन वकीलों ने लगाया इल्ज़ाम

दिल्ली में वाकेय् मुल्क के सुप्रीम कोर्ट से मुताल्लिक दिनों-दिन जिंसी इस्तेहसाल के मामले बढ़ रहे हैं, इसलिए सुप्रीम कोर्ट खबरों में बना हुआ है | सुप्रीम कोर्ट की ख्वातीन वकीलों ने शिकायत दर्ज कराई है कि उनका मर्द वकील जिंसी इस्ते

दिल्ली में वाकेय् मुल्क के सुप्रीम कोर्ट से मुताल्लिक दिनों-दिन जिंसी इस्तेहसाल के मामले बढ़ रहे हैं, इसलिए सुप्रीम कोर्ट खबरों में बना हुआ है | सुप्रीम कोर्ट की ख्वातीन वकीलों ने शिकायत दर्ज कराई है कि उनका मर्द वकील जिंसी इस्तेहसाल करते हैं | पहले सुप्रीम कोर्ट के दो साबिक जजों के खिलाफ लॉ इंटर्न ने जिंसी हरासानी का इल्ज़ाम लगाय था | अब दो ख्वातीन वकीलों ने मर्द वकीलों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है |

सुप्रीम कोर्ट ने 26 नवंबर 2013 को विशाखा गाइडलाइन के तहत दस लोगों की सुप्रीम कोर्ट जिंसी हसासियत (Gender sensitization) और अंदरूनी शिकायत (Internal Complaint) कमेटी बनाई थी | ख्वातीन वकीलों ने इस कमेटी को ही अपनी शिकायत दर्ज कराई है |

कमेटी ने अपनी सालाना रिपोर्ट सुप्रीम कोर्ट पर पोस्ट की है रिपोर्ट के मुताबिक एक खातून वकील ने 12 दिसंबर 2013 को जिंसी इस्तेहसाल की शिकायत दर्ज कराई उसके बाद कमेटी ने मुतास्सिरा के बयान भी रिकोर्ड किए| वहीं दूसरी शिकायत पैनल के सामने 16 दिसंबर 2013 को आई , लेकिन उसकी रिक्वेस्ट की बुनियाद पर उसके बयान दर्ज नहीं करवाए गए |

हालांकि रिपोर्ट में मुल्ज़िम वकीलों का नाम नहीं लिखा हुआ है एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक कमेटी के अंदरूनी फैसले के मुताबिक जब तक वे मुजरिम साबित नहीं हो जाते उनके नामों का ऐलान नहीं किया जाएगा अगर मुल्ज़िमो के गुनाह साबित हो जाते हैं तो उन्हें सुप्रीम कोर्ट के अहाते में आने पर एक साल की रोक लगाई जा सकती हैं |

पैनल उनके खिलाफ क्रिमिनल शिकायत भी दर्ज करा सकती है पैनल के पास सुप्रीम कोर्ट के अहाते में होने वाले ऐसे वाकियात की जांच की अदालती इख्तेयारात हैं पैनल में सुप्रीम कोर्ट के दो जज जस्टिस रंजना प्रकाश देसाई और जस्टिस मदन बी लोकुर भी बतौर मेम्बर जुड़े हुए हैं |

TOPPOPULARRECENT