Sunday , May 28 2017
Home / Uttar Pradesh / शर्मनाक: जवान बेटे का शव कंधे पर उठाकर ले जाने को मजबूर हुआ पिता, अस्पताल प्रशासन ने पूछा तक नहीं..

शर्मनाक: जवान बेटे का शव कंधे पर उठाकर ले जाने को मजबूर हुआ पिता, अस्पताल प्रशासन ने पूछा तक नहीं..

उत्तर प्रदेश: इटावा के विक्रमपुर गाँव से एक शख्स का वीडियो सामने आया है। जोकि यूपी में स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही की पोल खोल रही है।

इस वीडियो में एक शख्स अपने 15 साल के बेटे का शव को कन्धों पर उठा कर घर ले जाने को मजबूर हो गया। विक्रमपुर के उदयवीर सिंह के बेटे पुष्पेंद्र की तबियत सोमवार को अचानक खराब हो गई।

जिसके चलते वह इलाज के लिए उसे जिले के अस्पताल में ले गए। लेकिन अस्पताल में मौजूद डॉक्टरों ने पुष्पेंद्र को देखते ही मृत घोषित कर दिया।

डॉक्टरों ने बेटे की मौत से परेशान और रोते-बिलखते उदयवीर से उनके बेटे को वहां से ले जाने के लिए कह दिया। इस दौरान वहां मौजूद अस्पताल प्रशासन ने शव को ले जाने के लिए न ही स्‍ट्रेचर और न ही एंबुलेंस उपलब्‍ध कराई।

जिसके बाद एक पिता मजबूर होकर बेटे के शव को कंधे पर उठाकर चल पड़ा। इस पूरी घटना को वहां मौजूद किसी शख्स ने कैमरे में कैद कर लिया। कुछ ही वक़्त में यह घटना सोशल मीडिया में वायरल हो गई।

अस्पताल प्रशासन की गलती मानते हुए सीएमओ राजीव यादव ने कहा- ”यह घटना शर्मनाक है, इससे अस्पताल की रेपुटेशन खराब होगी। लेकिन ये बहुत बड़ी गलती है और इस पर कार्रवाई की जायेगी।
वहीँ पीड़ित पिता का कहना है कि डॉक्टरों ने मेरे बेटे को सिर्फ कुछ मिनट देखा। उसका इलाज भी नहीं किया और उसे मरा हुआ घोषित कर मुझे उसे वहां से ले जाने को कह दिया।

सबसे शर्मनाक बात ये थी कि किसी ने शव ले जाने के लिए एंबुलेंस या ट्रांसपोर्ट की सुविधा उपलब्‍ध नहीं करवाई।

Top Stories

TOPPOPULARRECENT