Saturday , June 24 2017
Home / Khaas Khabar / आपसी भाईचारा बढ़ाने के लिए सोल्डर 2 सोल्डर ने बढ़ाया हाथ, सभी मज़हब के लोग आए एक दस्तरखान पर

आपसी भाईचारा बढ़ाने के लिए सोल्डर 2 सोल्डर ने बढ़ाया हाथ, सभी मज़हब के लोग आए एक दस्तरखान पर

सोल्डर टू सोल्डर (एस2एस) फाउंडेशन ने मंगलवार को लखनऊ में भंडारा का आयोजन किया। इसका आयोजन सभी समुदाय और जाति के बीच आपसी संपर्क धार्मिक सहिष्णुता को बढ़ावा देने के उदेश्य से किया गया।

इस दौरान बंडारा में आने वालों के लिए सब्जी-पूरी, लड्डू और कोल्ड ड्रिंक का इंतेजाम किया गया था। इसका आयोजन सुबह के 10 बजे से लेकर शाम के 5 बजे किया गया।

सोल्डर टू सोल्डर फाउंडेशन 1860 के समाज पंजीकरण अधिनियम के तहत एक पंजीकृत संस्था है। इसे अगस्त 2015 में स्थापित में किया था और इसका मुख्यालय लखनऊ में स्थित है।

दरअसल, यह संस्था अलग-अलग धर्मों के लोगों को सहायता प्रदान करती है। यह एक स्वयंसेवक संचालित संगठन है। संस्था का मानना ​​है कि मानव अस्तित्व और प्रगति के लिए शांति, एकता और सहिष्णुता बेहद जरूरी है।

अपने स्थापना के दो साल के भीतर इसने बड़े पैमाने संयुक्त सामुदायिक कार्यक्रम चलाएं है। पिछले साल टोक्यो विश्वविद्यालय से आए एक प्रतिनिधिमंडल भी इस संस्था के अनूठे कार्यों से प्रभावित होकर उनसे मिलने आया था।

संस्था के जुड़े एक एक स्वयंसेवी अली रिजवी ने बताया कि भीषण गर्मी के बावजूद मौलाना डॉ. कल्बे सादिक कार्यक्रम में सिरकत करने आए थे। वो न सिर्फ आगंतुकों से मिले बल्कि उन्हें खाने पीने की चीजे भी सर्व कीं।

बता दें कि सोल्डर टू सोल्डर फाउंडेशन मुसलमानों के कौमी यकजहती के लिए भी काम करती है। इसके लिए इसने सितंबर 2015 में एक संयुक्त शिया-सुन्नी नमाज का आयोजन भी किया था। इसमें शिया और सुन्नी मतों के सैकड़ों लोगों ने लिकर एक साथ नमाज पढ़ी थी।

इसकी खबर अमेरिका के लगभग 300 अखबारों में भी छपी थी और इसके फेसबुक लाइव को छह लाख लोगों ने पसंद किया था। इसके बाद साल 2016 में भी इसी तरह की संयुक्त नामाज ईद-उल-अजहा के मौके पर भी पढाई गई।

इस बाद इस संस्था ने कौमी यकजहती का प्रदशर्शन करते हुए दिसंबर 2015 में मिशनरी ऑफ चैरिटी लखनऊ में मानसिक रूप से बीमार लोगों के साथ क्रिसमस मनाया। वहीँ, जून 2016 में इसने सभी समुदायों के लिए रमजान में एक इफ्तार पार्टी का आयोजन किया।

इसके अलावा संस्था ने गुरुद्वारा में एक आयोजन किया जहां लगभग 5000 लोगों को शिवई और शरबत बांटा गया।

 

Top Stories

TOPPOPULARRECENT