Saturday , August 19 2017
Home / India / स्टेट बैंक ऑफ इंडिया अपने कार्यालयों की निगरानी के लिए 11,000 पैलेट गन खरीदेगा

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया अपने कार्यालयों की निगरानी के लिए 11,000 पैलेट गन खरीदेगा

पिछले साल पैलेट गन को लेकर कश्मीर चर्चा में रहा, अब वही पैलेट गन आपके नजदीकी स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) के कार्यालयों में दिखाई दे जाएगी। हिंदुस्तान टाइम्स की खबर के अनुसार भारत का सबसे बड़ा बैंक एसबीआई 11,000 पैलेट गन खरीदने जा रहा है जो केवल सरकार के सुरक्षा गार्ड को ही दिए जाते हैं।

 

 

जैसा कि कश्मीर अशांति के दौरान देखा गया है, इसके एक बार फायर होने से सैकड़ों छर्रे निकलते हैं जो रबर और प्लास्टिक के होते हैं। ये जहां-जहां लगते हैं उससे शरीर के हिस्से में चोट लग जाती है। अगर आंख में लग जाए तो वह काफी घातक होता है। इसकी रेंज 50 से 60 मीटर होती है। छर्रे जब शरीर के अंदर जाते हैं तो काफी दर्द तो होता है। पूरी तरह ठीक होने में कई दिन लग जाते हैं।

 

 

पैलेट गन बनाने वाली राइफल फैक्ट्री, ईशापोर के महाप्रबंधक रत्नेश्वर वर्मा ने बताया कि हमने पहले बैच का उत्पादन किया है। समझौते के अनुसार हमें तीन साल की अवधि में एसबीआई को 11,000 पैलेट गन देनी हैं। यह हर राज्य में मात्र अधिकृत गन डीलरों के जरिये ही बेची जा सकती हैं। इंडियन एक्सप्रेस ने कुछ सौ छर्रों के सम्बन्ध में जानकारी दी थी जो बंदूक का एक कारतूस बनाने वाली गेंद के समान होती थी जबकि ये गैर-घातक बंदूकें केवल दर्द का कारण होती हैं।

 

 

पिछले साल कश्मीर में 100 से ज्यादा लोगों की मौत पैलेट गन से हुई है। कश्मीर में चोटों और मौतों की वजह से दबाव में सरकार इसके स्थान पर कोई दूसरा विकल्प देख रही है। एसबीआई द्वारा पैलेट गन खरीदने वाली नवीनतम रिपोर्ट उसके कर्मचारियों और ग्राहकों की सुरक्षा पर सवाल खड़ा करती है बशर्ते कि इसके इस्तेमाल की आवश्यकता पड़े।

TOPPOPULARRECENT