Friday , May 26 2017
Home / Uttar Pradesh / तारिक फतेह और जी न्यूज के खिलाफ सड़कों पर उतरे देवबंद के छात्र

तारिक फतेह और जी न्यूज के खिलाफ सड़कों पर उतरे देवबंद के छात्र

देवबंद : पाकिस्तान से निर्वासित किए गए गुस्ताख़ ए रसूल तारिक फतेह  ने जिस तरह भारतीय मीडिया विशेष कर ‘इलेक्ट्रानिक मीडिया’ के सहयोग से मुसलमानों को बदनाम करने की कोशिश की है,
 और जिस प्रकार  ज़ी न्यूज़ चैनल के प्रोग्राम “फतेह का फ़तवा”
में मुस्लिम हितैषी बन कर इस्लाम धर्म पर कीचड़ उछाला जा रहा है इससे मुसलमानों में सख्त चिंता और गुस्सा पाया जा रहा है तारिक फतेह को सोशल मीडिया के माध्यम से मुफ्ती यासिर नदीम अल वाजिदी और उनके साथियों ने बहूत पहले ही चैलेंज किया था,पर तारिक फतेह ने ट्वीटर के ज़रिये डिबेट से इंकार कर दिया था,
उसके बाद भी तारिक फतेह ने अपनी गुस्ताख़ियों का सिलसिला जारी रखा,
जिसकी वजह से पूरे देश से “जी न्यूज”और तारिक फतेह को भारत में बेन करने की मांग का सिलसिला बढ़ता जा रहा है.
इस संबंध में दो दिन पहले  डॉक्टर यासिर नदीम अलवाजिदी और मेहदी हसन एैनी की अपील पर चलाये गये ट्वीटर ट्रेंड ने छठा स्थान हासिल किया वहीं आज “फतेह का फितने “से उत्तेजित होकर त़लबा ए मदारिस देवबंद  सड़कों पर उतर आए और आज उन्होंने जबरदस्त विरोध किया।
 उन्होंने कहा कि अगर भारत सरकार व प्रशासन ने समय रहते तारिक विजय जैसे लोगों ‘ज़ी न्यूज़ के इस कार्यक्रम पर प्रतिबंध न लगाई तो यह आंदोलन को अधिक विस्तार दिया जाएगा.
 आज देर शाम देवबंद में मदरसों के छात्र और शहर निवासियों ने तारिक फतेह और जी न्यूज के खिलाफ सख्त विरोध प्रदर्शन करते हुए ‘जी न्यूज’ पर बेन लगाने की मांग की तो तारिक फतेह को फांसी देने और वापस भेजने के जबरदस्त नारे लगाए।
गौरतलब है कि टीवी चैनल जी न्यूज पर तारिक फतेह  को होस्ट बनाकर ‘फतेह का फतवा’ नामक कार्यक्रम चलाया जा रहा है, जिससे न केवल देश को सांप्रदायिकता की ओर धकेला जा रहा है,
 बल्कि उलेमा, मदरसों यहां तक ​​कि सहाबा किराम पर आपत्तिजनक टिप्पणियां की जा रही हैं, और इस्लामी इतिहास को तोड़ मरोड़ कर पेश किया जा रहा है, जिससे मुसलमानों में उत्तेजना सुनिश्चित है।
 इसी से गुस्साए हुए देवबंद मदरसों के छात्र और शहर के युवाओं ने आज दारूल उलूम देवबंद के मेन गेट से विरोध प्रदर्शन शुरू किया,
जिसमें देखते ही देखते सैकड़ों छात्रों ने  हिस्सा लेकर न केवल अपना विरोध दर्ज कराया बल्कि भारत सरकार से मांग की  है कि अगर जल्दी ही तारिक फतेह और जी न्यूज पर प्रतिबंध नहीं लगाया गया तो राष्ट्रीय स्तर पर विरोध आंदोलन चलाया जाएगा। विरोध में शामिल विद्यार्थियों के हाथों में तारिक फतेह और जी न्यूज के खिलाफ तख़्तियाँ थीं और वह नारेबाजी भी कर रहे थे.
प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे  मौलाना महमूद सिद्दीकी ने बताया कि पाकिस्तानी भगोड़ा तारिक फतेह ज़ी न्यूज़ के माध्यम से जिस तरह भारतीय मुसलमानों को बदनाम करने और इस्लाम धर्म पर कीचड़ उछालने का काम कर रहा है, उसे कतई रूप में सहन नहीं किया जाएगा,
 छात्रों ने ये भी कहा कि जी न्यूज के कार्यक्रम ‘फतेह का फतवा’ देश को सांप्रदायिकता की ओर धकेल रहा है अगर सरकार ने समय रहते कार्रवाई नहीं की तो उच्चस्तरीय विरोध किया जाएगा, क्योंकि मुसलमान सब कुछ बर्दाश्त कर सकता है लेकिन अपने रसूल की शान में गुस्ताख़ी किसी भी कीमत पर स्वीकार नहीं जा सकती,
साथ ही तारिक फतेह के विवादस्पद प्रोग्राम के विरुद्ध छेड़ी गई आंदोलन से जुड़े मेहदी हसन एैनी और अन्य साथियों ने उग्र भीड़ को काबू में किया।
और उन्होंने जल्दी ही तारिक फतेह के खिलाफ ठोस कानूनी  कार्रवाई की मांग की।
प्रदर्शन में क़ासिम उस्मानी,नदीम अलवी,मेहताब क़ासमी,नबील मस्ऊदी,अफ़सर अली समेत बड़ी तादाद में युवा मौजूद थे.
देवबंद से मेहंदी हसन ऐनी क़ासमी की रिपोर्ट 

Top Stories

TOPPOPULARRECENT