Saturday , October 21 2017
Home / India / लोकसभा में वीडियो रिकॉर्डिंग करने पर भाजपा सांसद अनुराग ठाकुर को लगी फटकार, स्पीकर ने दी चेतावनी

लोकसभा में वीडियो रिकॉर्डिंग करने पर भाजपा सांसद अनुराग ठाकुर को लगी फटकार, स्पीकर ने दी चेतावनी

संसद के मॉनसूत्र में बुधवार को भारतीय जनता पार्टी के सांसद अनुराग ठाकुर को लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने फटकार लगा दी । अनुराग ठाकुर को स्पीकर ने सदन में रिकॉर्डिंग करने के लिए डांटा और चेतावनी दी ।

सोमवार (24 जुलाई) को सदन में हंगामा होने के दौरान अनुराग ठाकुर मोबाइल से कांग्रेसी सांसदों का वीडियो बनाते देखे गए थे। लोकसभा स्पीकर ने ठाकुर के इस बरताव का संज्ञान लेते हुए बुधवार को कहा, “मैं आपको चेतावनी दे रही हूं…दोबारा गलती नहीं होनी चाहिए।”

विपक्षी दलों ने अनुराग ठाकुर द्वारा सदन में मोबाइल के इस्तेमाल और उनके वीडियो बनाने को लेकर स्पीकर से शिकायत की थी। अनुराग ठाकुर ने बुधवार को सदन में अपने बरताव के लिए खेद व्यक्त किया। आम आदमी पार्टी के सांसद भगवंत मान ने लोक सभा स्पीकर को इस बारे में एक पत्र भी लिखा था।

सुमित्रा महाजन ने ऐसी किसी सूचना से अनभिज्ञता जताते हुए अनुराग ठाकुर से कहा, “ये निंदनीय है। अगर आपने ऐसा किया है तो आपको माफी मांगनी पड़ेगी।” महाजन में सभी सांसदों को भविष्य के लिए भी संसद में मोबाइल का इस्तेमाल न करने को लेकर चेताया।

ठाकुर ने संसद में माफी मांगते हुए कहा, “मोबाइल से किसी को आपत्ति है तो मैं खेद व्यक्त करता हूं।” विपक्षी सांसदों ने मांग की कि जिस तरह कांग्रेस के सदस्यों को ‘अनुशासनहीनता’ के कारण सदन की पांच बैठकों से निलंबित किया गया, उसी तरह सत्तारूढ़ पार्टी के सांसद को भी निलंबित किया जाए।

विपक्षी सांसद हालांकि भाजपा सदस्य को दी गई केवल चेतावनी से नाराज हुए और उन्होंने नारेबाजी शुरू कर दी, जिसके कारण सदन की कार्यवाही 15 मिनट के लिए स्थगित करनी पड़ी।

लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने सोमवार को कांग्रेस के छह सांसदों गौरव गोगोई, अधीर रंजन चौधरी, रंजीत रंजन, सुष्मिता देव, एम.के.राघवन और के.सुरेश को कागज के टुकड़े फाड़कर अध्यक्ष की आसंदी की ओर फेंके जाने के कारण सदन की पांच बैठकों से निलंबित कर दिया था।

स्पीकर ने ठाकुर को सिर्फ चेतावनी दी, जिसके कारण विपक्ष ने नाराजगी जताई। पहले से ही अध्यक्ष की आसंदी के पास खड़े विपक्षी सदस्यों ने सरकार विरोधी नारेबाजी शुरू कर दी और अपने सदस्यों का निलंबन वापस लेने की मांग की।

TOPPOPULARRECENT