Sunday , June 25 2017
Home / India / तीन तलाक़ का इस्लाम में कहीं ज़िक्र नहीं: शबाना आज़मी

तीन तलाक़ का इस्लाम में कहीं ज़िक्र नहीं: शबाना आज़मी

तीन तलाक के मुद्दे पर देश में बड़ी बहस चल रही है। बॉलीवुड अभिनेत्री और सोशल एक्टिविस्ट शबाना आजमी ने तीन तलाक की आलोचना की है।

उन्होंने तीन तलाक को एक अमानवीय प्रथा बताते हुए कहा कि ये मुस्लिम महिलाओं के बुनियादी अधिकारों का उल्लंघन करता है।
इसे जल्द से जल्द खत्म किया जाना चाहिए। तीन तलाक का जिक्र कुरान में नहीं है जिसका मतलब है कि कुरान भी तीन तलाक की मुताबिक नहीं देता है।
इसे जल्द से जल्द से खत्म किया जाना चाहिए। इसे खत्म करना सरकार का फर्ज है ताकि मुस्लिम महिलाओं के अधिकारों की रक्षा की जा सके।
गौरतलब है कि शबाना हाजमी खुद मुस्लिम समुदाय से ताल्लुक रखती हैं और फिल्म इंडस्ट्री की जानी-मानी अदाकारा हैं। शबाना इससे पहले कई बार मुस्लिम महिलाओं के समर्थन में बयान दे चुकी हैं। उनके मुताबिक तीन तलाक जैसी प्रथाएं सभ्य समाज के लिए नहीं है।

  • Mohammadshahid

    Shabana, your acting is totally Haram in Islam and it is mentioned in Quran so how you can talk about Islam. What you did in your life “acting” touching other men while acting. So better shut your mouth and tell your husband as well.

Top Stories

TOPPOPULARRECENT