Tuesday , September 26 2017
Home / World / मुस्लिम देशों के नेताओं के बीच ट्रम्प बोले- आतंकवाद का कोई धर्म नहीं होता

मुस्लिम देशों के नेताओं के बीच ट्रम्प बोले- आतंकवाद का कोई धर्म नहीं होता

अमरीकी राष्ट्रपित डोनाल्ड ट्रंप के सऊदी अरब पहुंचते ही सुर बदल गए हैं। ट्रंप ने रविवार को मुस्लिम बहुल देशों के लगभग 50 नेताओं और प्रतिनिधियों के साथ एक शिखर बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि आतंकवाद का किसी धर्म से कोई संबंध नहीं है।

यह अच्छाई और बुराई के बीच की लड़ाई है। बता दें कि ट्रंप इससे पहले कट्टर इस्लामिक आतंकवाद शब्द का इस्तेमाल करते रहे हैं। ट्रंप ने कहा कि आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई बर्बर अपराधियों के खिलाफ जंग है, जो इंसानियत को खत्म करने पर तुले हुए हैं। सभी धर्मों के अच्छे लोग उनसे रक्षा करने में चुटे हुए हैं।

ट्रंप ने अपने भाषण में धार्मिक नेताओं को सलाह दी कि वे स्पष्ट संदेश दें कि आतंकवाद का सहारा लेने से किसी भी कौम को कोई सम्मान नहीं मिलेगा। बलिक आतंकवाद सभी को बर्बाद कर देगा। उन्होंने मुस्लिम देशों को सलाह दी कि वे कट्टरता के खिलाफ एकजुट होकर संघर्ष करें, अमरीका उनका साथ देने को तैयार है।

ट्रंप ने स्पष्ट खब्दों में कहा कि वे यहां सिर्फ भाषण देने नहीं आए हैं। मध्यपूर्व के देशों को खुद ही यह खुद तय करना होगा कि वे अपने देशों और बच्चों के लिए कैसा भविष्य चाहते हैं।

TOPPOPULARRECENT