Saturday , October 21 2017
Home / Khaas Khabar / हिजाबी महिला हमले में घायल लोगों की मदद कर रही थी, ट्विटर पर अफवाह फैली- मोबाइल यूज़ कर रही है

हिजाबी महिला हमले में घायल लोगों की मदद कर रही थी, ट्विटर पर अफवाह फैली- मोबाइल यूज़ कर रही है

लंदन: सोशल मीडिया पर इन दिनों एक हिजाब पहनी महिला की तस्वीर चर्चा में है। इसमें महिला बुधवार को लंदन में वेस्टमिंस्टर ब्रिज पर मोबाइल फ़ोन यूज़ करती नजर आ रही है अपने आस पास मौजूद मारे गए और घायल लोगों की बिना बेपरवाह किए। यह तस्वीर हाल ही में ब्रिटश संसद पर हुए अटैक की थी।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

ख़बर के मुताबिक़ हिजाब पहनी महिला की बेपरवाही को पहले नोट करने वाला शख्स एक अमेरिकी है। उसने ट्विटर पर इस तस्वीर की एक दूसरी तस्वीर से तुलना की है, जिसमें ब्रिटिश मंत्री ने हमलावर का निशाना बनने वाले पुलिस अधिकारी की जान बचाने के लिए जान की बाजी लगा दी थी।

दोनों तस्वीरें जोड़कर इसे शीर्षक दिया गया है, “मुसलमानों और ईसाइयों के बीच अंतर”। यह उस ओर इशारा है कि अरब और मुसलमान आतंकवाद का निशाना बन कर घायल होने वालों की परवाह नहीं करते जबकि “हम” इस मामले में अलग हैं।

उस ट्वीटर अकाउंट्स के 44 हजार से अधिक फॉलोअर्स हैं। यहाँ से हिजाब पहनी महिला की तस्वीर दर्जनों अन्य खातों पर फैल गया और फिर वहां से फेसबुक के अलावा कई ब्रिटिश मीडिया तक जा पहुंची।

A Texas Lone Star नाम के ट्विटर अकाउंट्स से हिजाब पहनी महिला की एक तस्वीर पोस्ट करके लिखा कि मुस्लिम महिला आतंकवादी हमले पर ध्यान ही नहीं दे रही। वह एक दम तोड़ते व्यक्ति के पास से गुजर रही है और अपने फोन में व्यस्त है।

लेकिन यूजर्स की आती ऐसी प्रतिक्रियाओं के बीच हकीक़त इन सब से बिल्कुल अलग थी। जिसके सामने आने के बाद समाज के भीतर भीतर मुस्लिमों को लेकर घर कर चुकी मानसिकता और पूर्वाग्रह का पता चलता है।

दरअसल ट्विटर पर हिजाबी महिला को लेकर छिड़ी बहस के बीच जवाब में Kelly Blackwell नामक महिला ने जवाबी ट्वीट में लिखा, ‘तुम्हें इस बात का पता नहीं कि इस तस्वीर में क्या हो रहा है इसलिए आप इसे एक अलग तरीक़े में ले रहे हो। यह महिला असल में अपने मोबाइल फोन के साथ मनोरंजन में व्यस्त नहीं जैसा कि Texas Lone से गुमान किया जा रहा है.. बल्कि शायद वह एम्बुलेंस या अपने जानने वाले किसी डॉक्टर से संपर्क कर रही है, और या यह खुद कोई नर्स है जो पुल पर मौजूद किसी और घायल के पास पहुंचने की कोशिश कर रही है।’

ट्वीट में आगे कहा गया कि ये भी हो सकता है कि उसका कोई अजीज उस आतंकवादी कार तले रौंद दिया गया हो और वह उस तक पहुँचने की चिंता में हो। तस्वीर को ज़ूम करके देखने पर फ़ोन यूज़ करती महिला के चेहरे पर गहरी चिंता और परेशानी का अंदाजा साफ़ लगाया जा सकता है।

TOPPOPULARRECENT