Friday , August 18 2017
Home / International / UN की ब्लेकलिस्ट को अस्वीकार करते हैं: सऊदी सैन्य गठबंधन

UN की ब्लेकलिस्ट को अस्वीकार करते हैं: सऊदी सैन्य गठबंधन

रियाद: यमन में ईरानी समर्थित होती विद्रोहियों के खिलाफ लड़ने वाले सऊदी सैन्य गठबंधन ने संयुक्त राष्ट्र की उस रिपोर्ट को खारिज कर दिया है, जो बच्चों की मौत की वजह से सैन्य गठबंधन को ब्लेक लिस्ट में जोड़ा गया है।

इस सैन्य गठबंधन के प्रवक्ता ब्रिगेडियर जनरल अहमद असीरी ने सऊदी प्रेस एजेंसी से बातचीत करते हुए कहा, ” रिपोर्ट गैर वज़नदार है, इसमें शामिल किए गए आंकड़े भी अप्रत्याशित हैं और यह येमेनी जनता का प्रतिनिधित्व नहीं करते। ”सैन्य प्रवक्ता का कहना था कि उन्हें गलत डेटा का उद्देश्य जनता को गलत दिशा में ले जाना है। प्राप्त होने वाली अधिकांश जानकारी के सूत्रों वे लोग हैं, जिनके संबंध होती विद्रोहियों के साथ हैं या वे पूर्व येमेनी राष्ट्रपति अली अब्दुल्ला सालेह के पास हैं।

पिछले गुरुवार को संयुक्त राष्ट्र के महासचिव बान की मून ने एक नई रिपोर्ट जारी की थी, जिसके अनुसार सन् 2015 में यमन में 785 बच्चे मारे गए जबकि घायल होने वाले बच्चों की संख्या 1150 से भी अधिक है। इस रिपोर्ट में साठ प्रतिशत मौतों का जिम्मेदार सऊदी सैन्य गठबंधन को ठहराया गया था।इस रिपोर्ट में सऊदी सैन्य गठबंधन और होती विद्रोही दोनों ही को ब्लैकलिस्ट कर दिया गया था। रिपोर्ट के अनुसार पक्षों ” बड़े पैमाने पर मानवाधिकार उल्लंघन के दोषी हुए हैं जबकि स्कूलों और अस्पतालों पर भी बमबारी की गई है। ”

सऊदी अरब ने होती विद्रोहियों के खिलाफ सैन्य अभियानों की शुरूआत पिछले साल मार्च में किया था। इस द्विपक्षीय लड़ाई में अब तक 6400 के करीब लोग मारे गए हैं। इस विवाद के कारण विस्थापित लोगों की संख्या लगभग 24 लाख बताई जाती है जबकि आलमी बिरादरी की कोशिश है कि यमन के विवाद का शांतिपूर्ण समाधान कर लिया जाए।

सऊदी सैन्य गठबंधन के प्रवक्ता का कहना था कि उनकी सेना यमन में स्थानीय लोगों की सुरक्षा के लिए गई हैं ताकि यमनी को होती मलेशिया के हमलों से सुरक्षित बनाया जा सके।उन्होंने कहा कि यमन के बच्चों के लिए सऊदी अरब ने संयुक्त राष्ट्र इदारा बराए इतफाल को 30 लाख डॉलर की सहायता प्रदान की है।

TOPPOPULARRECENT