Tuesday , July 25 2017
Home / Uttar Pradesh / खाने पर भी पाबंदी, पहली बार मुस्लिम सामूहिक निकाह में मेहमानों को परोसी गई वेज बिरयानी

खाने पर भी पाबंदी, पहली बार मुस्लिम सामूहिक निकाह में मेहमानों को परोसी गई वेज बिरयानी

उत्तर प्रदेश: यूपी में योगी सरकार बनने के बाद प्रदेश में अवैध बूचड़खानों को बंद करवा दिया गया है। मुख्यमंत्री आदित्यनाथ के इस कदम के बाद यूपी में मीट, चिकन और अंडे के कारोबारियों हड़ताल पर चले गए हैं जिसका सीधा असर मुस्लिम शादियों पर पड़ रहा है। इन दिनों शादी में बारातियों को कबाब और बिरयानी की जगह वेज बिरयानी परोसी जा रही है।

ऐसा ही एक मामला मुरादाबाद में सामने आया है जहाँ सामूहिक निकाह समारोह में शामिल हुए मेहमानों को आयोजकों ने तहरी खिलाई।

इस सामूहिक निकाह समारोह के आयोजक मुनव्वर सक़लैन का कहना है कि इलाके में मीट की कोई भी दूकान नहीं खुली है और चिकन की कमी के चलते कोई भी दुकानदार आर्डर नहीं ले रहा। इसलिए मजबूरन हमें मेहमानों को वेज बिरयानी परोसी पड़ी।

बता दें कि हजरत शाह सक़लैन अकेडमी की तरफ से हर साल सामूहिक निकाह का आयोजन किया जाता है जिसमें 51 जोड़ों का निकाह करवाया जाता है।

हालाँकि इससे पहले इस समारोह में दावत में मेहमानों को चिकन बिरयानी और नानवेज खिलाया जाता था लेकिन इस बार ऐसा नहीं हो पाया।

TOPPOPULARRECENT