Thursday , October 19 2017
Home / Punjab / Haryana / हरियाणा में आधार नम्बर दर्ज नहीं कराने पर पेंशन रोकी

हरियाणा में आधार नम्बर दर्ज नहीं कराने पर पेंशन रोकी

हरियाणा के कई जिलों में पेंशन का भुगतान रोक दिया है, क्योंकि बड़ी संख्या में लाभांवितों ने आधार नंबर दर्ज नहीं कराया है। कई लोगों ने गलत आधार नंबर भी दर्ज कराया है।

उपायुक्त अंशज सिंह ने बताया कि सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग द्वारा जिला भिवानी व चरखी दादरी के 18846 विभिन्न सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजनाओं का डाटा दुरूस्त किया जाएगा।

उन्होंने बताया कि 4324 लाभपात्रों ने आधार से लिंक नहीं होने, 5935 द्वारा गलत आधार नंबर दर्ज करवाने, 2288 द्वारा दूसरे राज्य का आधार नंबर देने एवं 6299 लाभपात्रों द्वारा नकली आधार नंबर दर्ज करवाया हुआ है। पेंशन लाभपात्रों का आधार नम्बर राज्य से बाहर का होना, अवैध तरीके से एक से अधिक बार आधार कार्ड बनवाने के कारण अगस्त माह की पेंशन रोकी दी है।

उन्होंने बताया कि 30 सितंबर तक जिला समाज कल्याण विभाग द्वारा सभी लाभपात्रों का डाटा दुरूस्त कर दिया जाएगा। ग्रामीण क्षेत्रों में खंड कार्यालय व शहरी क्षेत्रों में नगर पालिका कार्यालय में लाभपात्र अपना आधार कार्ड नंबर एवं अन्य डाटा दुरूस्त करवा सकते हैं।

वहीं, जींद से मिली खबरों के अनुसार समाज कल्याण विभाग ने 41 हजार बुजुर्गो, विधवाओं और विकलांगों की पेंशन रोक दी है, जिनके आधार कार्ड पेंशन खाते के साथ लिंक नहीं हुए हैं। पेंशन रुकने की जानकारी लेने के लिए समाज कल्याण विभाग में कई दिनों से बड़ी संख्या में बुजुर्ग लोग चक्कर काटने को मजबूर हैं।

समाज कल्याण अधिकारी सरोज ने पेंशन के लाभ पात्रों से अपील की है कि वह समाज कल्याण विभाग जींद कार्यालय में न आकर ग्रामीण अपने गांव के सरपंच और शहर के लोग अपने वार्ड के पार्षदों के पास अपने आधार और बैंक की कापी जमा करवाएं। पेंशन को लेकर किसी भी बुजुर्ग को परेशानी नहीं आने दी जाएगी। जिसके भी कागजात 29 सितंबर तक जमा हो जाएंगे, उनको अक्टूबर माह में रुकी हुई पेंशन मिल जाएगी। इसके लिए समाज कल्याण विभाग ने अपने काम की गति को बढ़ायी है। उन्होंने दो दिन में ही छह हजार से ज्यादा लोगों की पेंशन को ऑनलाइन किया है।

TOPPOPULARRECENT