Tuesday , May 30 2017
Home / Politics / शर्मनाक: CM योगी के आने से पहले चमकाया शहीद का घर, जाते ही हटा दिया गया AC, सोफ़ा, कालीन…

शर्मनाक: CM योगी के आने से पहले चमकाया शहीद का घर, जाते ही हटा दिया गया AC, सोफ़ा, कालीन…

एक सैनिक देश की सेवा के लिए अपने जान की बाज़ी लगा देता है लेकिन सरकारें उस शहीद के जवान को मिलने वाला सम्मान भी नही दे पाती हैं। इस बीच सरकारों की नीयत पर सवाल उठाने वाली एक ख़बर यूपी के देवरिया से आई है।

दरअसल हुआ कुछ यूँ कि शुक्रवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शहीद प्रेमसागर के परिजनों से मिलने देवरिया के टिकमपार गांव पहुंचे। लेकिन मुख्यमंत्री के दौरे के 24 घंटे पहले शहीद के घर को अधिकारियों ने हाइटेक बना दिया। जिस कमरे में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ परिजनों से मिलने वाले थे उसमें जैसे-तैसे जुगाड़ करवाकर एसी भी लगवा दी गई।

लेकिन ये चमक दमक और सुविधाएं सिर्फ चंद घंटों के लिए ही थीं, शहीद के बेटे ईश्वर चंद्र ने बताया, ”मुख्यमंत्री योगी के जाने के आधे घंटे के बाद ही एसी निकाल लिया गया।”

ईश्वर चंद्र ने बताया, ”जिस कमरे में हमें मुख्यमंत्री योगी से मिलना था उसमें शुक्रवार सुबह ही बांस-बल्ली के सहारे एसी टांग दी। मुख्यमंत्री योगी के जाते ही सारी सुविधाएं साफ हो गईं। एसी को आधे घंटे के अंदर ही निकाल दिया गया। इसके अलवा जो भी सुविधाएं दी गई थीं वो सभी हटा दी गईं।”

शहीद के बेटे ने बताया, ”गुरुवार शाम से ही गांव में अधिकारी आ गए थे। बताया गया कि योगी हमसे मिलने आ रहे हैं। इसके बाद से अधिकारी हमारे घर को व्यवस्थित करने में जुट गए। रातों-रात घर में सोफा-कालीन लाया गया। इतना ही नहीं तौलिए तक बदल दिए गए। रात में ही मजदूरों को लगा कर घर के अंदर पेंट भी कर दिया गया। गांव की सड़कें भी रातों-रात चमक गईं। इसके अलावा नालियों को भी साफ किया गया।

उन्होने बताया, मुख्यमंत्री योगी 4.30 पर हमारे घर पहुंचे, उन्होंने चेक सौंपा और हर संभव मदद का आश्वासन दिया। सीएम करीब आधे घंटे रहे। वे जैसे ही गए, घर में लगाया गया एसी, सोफा, कालीन सब अधि‍कारियों के निर्देश पर हटा दिया गया। सिर्फ घर की दीवारों पर लगा पेंट ही बचा।”

बता दें कि सीएम शुक्रवार को शहीद प्रेमसागर के घर पहुंचकर उनके परिजनों से मुलाकात की और 4 लाख का चेक और 2 लाख रुपए की एफडी दी। गरुवार शाम से ही शहीद के गांव में अधिकारियों ने डेरा डाल दिया था।

सीएम आदित्यनाथ के बुंदेलखंड दौरे पर भी अधिकारियों का कारनामा सामने आया था । झांसी में एक गांव में तालाब के निरीक्षण के पहले ही अधिकारियों ने रातोंरात सूखे तालाब में पानी भर दिया था साथ ही ग्रामीणों को घरों में बंद कर दिया था ताकि गांव की असलियत सीएम के सामने आ ना सके।

Top Stories

TOPPOPULARRECENT