Thursday , August 24 2017
Home / Khaas Khabar / इंजीनियरिंग कॉलेज में एडमिशन लेना है इसलिए रिक्शा चलाकर पैसे जमा कर रहे हैं 16 साल के जीशान

इंजीनियरिंग कॉलेज में एडमिशन लेना है इसलिए रिक्शा चलाकर पैसे जमा कर रहे हैं 16 साल के जीशान

मेरठ की सड़कों पर रिक्शा चलाता एक आम सा लड़का जीशान बहुत खास है। खास इसलिए क्योंकि उनके इरादे मज़बूत है, रिक्शा चलाना उनकी मजबूरी नहीं, खुद्दारी है, और ये ख़ुद्दारी उन्हें अपने वालिद से मिली है।

मेरठ में ई-रिक्शा चलाने वाले जीशान की उम्र 16 साल है। जीशान घर का खर्च चलाने या फिर अपना श़ौक पूरा करने के लिए रिक्शा नहीं चला रहे हैं। दरअसल उन्हें अपनी पढाई के लिए रिक्शा चलाता है ।

न्यूज़ पोर्टल पड़ताल के मुताबिक़, जीशान ने इस साल 12वीं का एक्ज़ाम दिया है और रिज़ल्ट इसी महीने आने वाला है। जीशान इंजीनियरिंग कॉलेज में एडमिशन लेना चाहते हैं जिसके लिए उन्हें 75 हज़ार रुपए फीस के लिए चाहिए है, इसलिए जीशान ने रिक्शा थाम लिया है। जीशान पढ़ाई में तेज़ है। दसवीं में उन्हें  72 प्रतिशत मार्क्स मिले थे।

जीशान के पिता अफसर अली राजनीति में हैं, वो बीएसपी के बाबू मुनकाद अली के साथ 25 साल से रहते हैं, कुछ नेताओ के भाषण भी लिखते हैं। परिवार में दस भाई बहन हैं, 2 भाई और 3 बहन की शादी हो गयी है। 5 भाईयो में से 4 हाफिज हैं। सबसे बड़े वाले जावेद सऊदी में गाड़ी चलाते हैं। उन्हीं ने जीशान को सिविल इंजिनियरिंग करने की सलाह दी ताकि सऊदी जाकर अच्छी नौकरी कर पाए।

जीशान के पिता बेहद ईमानदार, उसूलपसंद और खुद्दार हैं, इसलिए वो किसी से आर्थिक मदद नहीं लेंगे। जीशान तीन महीने से रिक्शा चला रहे हैं। उन्होंने 60 हज़ार रुपए जमा कराए और अपनी इसी कमाई से खुद का रिक्शा भी खरीद लिया है। अभी 25 हज़ार रुपए जमा कर लिए हैं बाकि भी जल्द जमा कर लेंगे।

हर महीने 20 हज़ार रुपए कमाने वाले जीशान कहते हैं कि जैसे ही फीस के पैसे हो जाएंगे वो अपना रिक्शा बेच देंगे।

पढ़ाई के साथ जीशान क्रिकेट के भी बेहतरीन खिलाड़ी हैं। उनका दावा है कि अगर उन्हें मौका मिले तो तीन साल में आईपीएल खेल लेंगे। हालांकि वो अभी पढ़ाई पर ही ज़ोर दे रहे हैं क्योंकि अच्छी नौकरी से उनके घर के हालात और बेहतर होंगे।

ऐसे में जीशान की कहानी कौम के उन तमाम युवाओं के लिए एक मिसाल है जो गरीबी और पैसों की कमी की वजह से पढ़ाई छोड़ देते हैं। पढ़ाई के लिए पैसों के साथ ज़िद और जुनून की भी ज़रूरत होती है, जिस तरह का जुनून जीशान में है।

TOPPOPULARRECENT