अपना अंदर बदलईए

अपना अंदर बदलईए

अगर अंडे को बाहर से तोड़ा जाये तो...ज़िंदगी दम तोड़ देती है> जबकि अंडा अंदर से टूटे तो..ज़िंदगी जन्म…

इंसान और इंसानियत

इंसान और इंसानियत

एक इंसान दूसरे इंसान से मायूस हो सकता है लेकिन...इंसानियत से मायूस नहीं होना चाहिए। इस लिए कि इं…

ग़ज़ल क्या है

ग़ज़ल क्या है

ग़ज़ल के मुतअतिलक इज़हारे ख्याल करते हुये एक मौ़के पर मैंने कहा था ग़ज़ल इन्तेहाओं का एक सिलसिला है.…

जड़ें

जड़ें

सबके चेहरे उड़े हुए थे। घर में खाना तक न पका था। आज छठा दिन था। बच्चे स्कूल छोड़े, घर में बैठे, अपनी औ…

सब ग़ुलाम

सब ग़ुलाम

जैसे ही उसकी आँख खुली, उसे शॉक-सा लगा। रेलवे प्लेट फार्म की बैंच पर लेटे-लेटे पता नहीं उसकी आंख कैस…

दो बदन एक जान

दो बदन एक जान

गली के नुक्कड पर मुश्किल से आठ दस लोग ख़ड़े ह़ैं, लेकिन जैसे ही मर्फा (अरबी बाजा) बजना शुरू हुआ, शाद…

पिदरी ज़बान

पिदरी ज़बान

जोश ने पाकिस्तान में एक बहुत बड़े वज़ीर को उर्दू में ख़त लिखा। इस का जवाब वज़ीर ने अंग्रेज़ी में दि…

ऐसी तो …

ऐसी तो …

सहारनपुर में ईदन एक गाने वाली थी, बड़ी बाज़ौक़, सुख़न फ़हम और सलीक़ा शआर, शहर के अक्सर ज़ी इल्म और मोअज़्ज़ि…

पूछरइं और कड़कड़ारइं  सब जने

पूछरइं और कड़कड़ारइं सब जने

फिर से सूली पो चढारइं सब जने दूसरी शादी करारइं सब जने क्या करा, बस उनकी गली में गया एक सुर में …

हुए तुम दोस्त

हुए तुम दोस्त

इस तरह कर रहा है हक़-ए-दोस्ती अदा उसका ख़ुलूस है मुझे हैरां किए हुए मुद्दत से है अनाज का दुश्मन ब…

लैला के वास्ते

लैला के वास्ते

डर डर के शेख़ पढ़ते हैं लाहौल आजकल शैतां के पास रहता है पिस्तौल आजकल मोटर भगाए फिरता है लैला के …

लतीफे

लतीफे

इतनी गर्म ! * तीन दोस्त ( गप्पे बाज़) बैठे बातें कररहे थे। एक दोस्त ने कहा, मैं इतनी गर्म चाय पीता …

बड़ा शायर

बड़ा शायर

* कुछ नक़्क़ाद हज़रात उर्दू के एक शायर की मद्हसराई कर रहे थे, इन में से एक ने कहा, साहिब क्या बात है, ब…

मुस्कुराइए….

मुस्कुराइए….

इंसानियत का जज़्बा! एक दोस्त ने दूसरे दोस्त से कहा : यार आज मैंने इंसानियत के जज़्बे के तहत एक गधे को…

ये अल्लाह के वो बंदे हैं….

ये अल्लाह के वो बंदे हैं….

एक बुजुर्ग एक आबादी से गु़जर रहे थे। उन्होंने देखा पूरी आबादी में सिर्फ दो घर ऐसे हैं, जो चांदी क…

माफ़ कीजिए !

माफ़ कीजिए !

* एक पार्टी में एक साहिब ने अपने पास खड़े हुए आदमी से कहा : क्या ज़माना आगया है ? ज़रा सामने बैठे लड़के …

मुस्कुराना मना है-2

मुस्कुराना मना है-2

जगह नहीं है एक गाड़ी पर तीन आदमी सवार थे। एक पुलिस ऑफ़िसर ने उन्हें देख कर गाड़ी रोकने के लिए क…