Wednesday , December 13 2017

Hadis Shareef

हदीस शरीफ

हदीस शरीफ

हज़रत अनस रज़ी अल्लाहो तआला अनहो से रिवायत है के रसूल-ए-पाक (स०अ०व०) ने फ़रमाया ऐ अल्लाह मुझ को मिस्कीन (गरीब) बना कर रख मिस्कीनी(गरीबी) के हालात में उठा और मिस्कीनो के जुमरा (ग्रुप) में मेरा हश्र कर (तिरमिज़ी)

Read More »

हदीस शरीफ

हदीस शरीफ

हज़रत अब्दुल्लाह बिन उमर रज़ी अल्लाहो तआला अनहो से रिवायत है के रसूल-ए-पाक (स०अ०व०) ने फ़रमाया जो शख्स अपने माल की हेफाज़त करते हुवे क़त्ल किया जाए वो शहीद है (बुखारी शरीफ)

Read More »

हदीस शरीफ

हदीस शरीफ

हज़रत आईशा सिद्दीका रज़ी अल्लाहो तआला अनहा से रिवायत है के रसूल-ए-पाक (स०अ०व०) ने फ़रमाया जिस को नरमी का हिस्सा ना मिला उसे दुनिया व आखिरत की भलाई के हिस्से से भी महरूम रख्खा गया (तिरमिज़ी)

Read More »

हदीस शरीफ

हदीस शरीफ

हजरत जरीर बिन अब्दुल्लाह रज़ी अल्लाहो तआला अनहो से रिवायत है के रसूल-ए-पाक (स०अ०व०) से दरयाफ्त किया गया, किसी अजनबी औरत पर नज़र पड़ जाये तो किया हुक्म है ? इरशाद हुवा “फ़ौरन नज़र फेर लो’’ (मिश्कात शरीफ)

Read More »

हदीस शरीफ

हदीस शरीफ

हज़रत अमर बिन आस रज़ी अल्लाहो तआला अनहो से रिवायत है के रसूल-ए-पाक (स०अ०व०) ने फ़रमाया जिस कौम में जना फैल जाता है उस कौम को कहत पकड़ लेता है और जिस कौम में रिश्वत फैल जाती है वो बुजदिल हो जाता है (मिश्कात शरीफ)

Read More »

हदीस शरीफ

हदीस शरीफ

हज़रात अब्दुल्लाह बिन अब्बास रज़ी अल्लाहो तआला अनहो से रिवायत है के रसूल-ए-पाक (स०अ०व०) ने फ़रमाया तुमने ऐसी कोई चीज़ निकाह के सिवा न देखि हो गी जो दो शख्सों के माबैन इतने दर्जे की मोहब्बत पैदा कर दे (इब्न माजा)

Read More »

हदीस शरीफ

हदीस शरीफ

हज़रत अबू हुरैरा रज़ी अल्लाहो तआला अनहो से रिवायत है रसूल-ए-पाक (स०अ०व०) ने फ़रमाया उस शख्स की मदद अल्लाह तआला पर वाजिब है जिसने जीना से बचने निकाह किया। (तिरमिज़ी शरीफ़)

Read More »

हदीस शरीफ

हदीस शरीफ

हज़रत अनस बिन मालिक रज़ी अल्लाहो तआला अनहो से रिवायत है के रसूल-ए-पाक (स०अ०व०) ने फ़रमाया अपने कामों को तदबीर के साथ करो अगर इसका अंजाम अच्छा नज़र आये तो कर डालो (मिस्कात शरीफ)

Read More »

हदीस शरीफ

हदीस शरीफ

हज़रत जाबिर बिन अब्दुल्लाह रज़ी अल्लाहो तआला अनहो से रिवायत है के रसूल-ए-पाक (स०अ०व०) ने फ़रमाया जब कोई शख्स कोई बात (जिसे वो राज़ रखना चाहता है) कहे और फिर वो चला जाये तो वो बात अमानत है। (तिरमिज़ी शरीफ)

Read More »

हदीस शरीफ

हदीस शरीफ

हज़रत अबदुल्लाह बिन अब्बास रज़ी अल्लाहो तआला अनहो फ़रमाते हैं कि हज़रत अली रज़ी अल्लाहो तआला अनहो ने हज़रत उमर रज़ी अल्लाहो तआला अनहो के लिए दोआए रहमत की और फ़रमाया आप के बाद कोई ऐसा शख़्स नहीं जो मुझे आप के बराबर महबूब हो कि वो अ

Read More »

हदीस शरीफ

हदीस शरीफ

हज़रत अबू हुरैरा रज़ी अल्लाहो तआला अनहो से रिवायत है रसूल-ए-पाक (स०अ०व०) ने फ़रमाया तुम से पहले लोगों यानी बनी इसराईल में ऐसे लोग भी हुआ करते थे जिन के साथ अल्लाह तआला की तरफ़ से कलाम फ़रमाया जाता था हालाँ कि वो नबी ना थे , अगर इन में

Read More »

हदीस शरीफ

हदीस शरीफ

हज़रत साद बिन अबी वक़ास रज़ी अल्लाहो तआला अनहो से रिवायत है रसूल-ए-पाक (स०अ०व०) ने हज़रत अली रज़ी अल्लाहो तआला अनहो से फ़रमाया क्या तुम इस बात पर राज़ी नहीं कि मेरे साथ तुम्हारी वही निसबत हो जो हज़रत हारू (अ) को हज़रत मूसा (अ) से थी। (

Read More »

हदीस शरीफ

हदीस शरीफ

हज़रत इब्न अब्बास रज़ी अल्लाहो तआला अनहो से रिवायत है रसूल-ए-पाक (स०अ०व०) ने जब यौम आशूरा का रोज़ा रखा और इस दिन का रोज़ा रखने का हुक्म इरशाद फ़रमाया तो सहाबा किराम ने अर्ज़ क्या या रसूल-ए-पाक (स०अ०व०) ये तो वो दिन है जिस दिन की यहूद-ओ

Read More »

हदीस शरीफ

हदीस शरीफ

हज़रत अनस रज़ी अल्लाहो तआला अनहो से रिवायत है रसूल-ए-पाक (स०अ०व०) ने फ़रमाया क़ियामत में जब अहले मह्शर से हिसाब-ओ-किताब लिया जा रहा होगा तो लोगों का एक ज़म्म-ए-ग़फ़ीर तलवारें कंधों पर रखे हुए जन्नत के दरवाज़े पर पहूंचेगा उन लोगों क

Read More »

हदीस शरीफ

हदीस शरीफ

रसूल-ए-पाक (स०अ०व०) ने फ़रमाया कि मैं शयातीन इनस-ओ-जिन को देख रहा हूँ कि वो उमर रज़ी अल्लाहो तआला (के डर) से भाग खड़े हुए हैं । (तिरमिज़ी शरीफ़ )

Read More »

हदीस शरीफ

हदीस शरीफ

हज़रत जाबिर रज़ी अल्लाहो तआला अनहो से रिवायत है रसूल-ए-पाक (स०अ०व०) ने फ़रमाया जिस शख़्स ने कोई कुँआं खुदवाया और इस कुँवें से किसी प्यासे ने प्यास बुझाई तो ये कुँआं खुदवाने वाला बहुत बड़े अज्र का मुस्तहिक़ है और जिस ने कोई मस्जिद

Read More »

हदीस शरीफ

हदीस शरीफ

हज़रत इबन उमर रज़ी अल्लाहो तआला अनहो का ब्यान है कि हज़रत अबू बकर सिद्दीक़ रज़ी अल्लाहो तआला अनहो ने फ़रमाया रसूल-ए-पाक (स०अ०व०) की ख़ुशनुदी आप के अहल-ए-बैत की मुहब्बत में है । (बुख़ारी शरीफ़)

Read More »

हदीस शरीफ

हदीस शरीफ

हज़रत अली रज़ी अल्लाहो तआला अनहो से रिवायत है रसूल-ए-पाक (स०अ०व०) ने फ़रमाया हर नमाज़ के बाद आयत उल-कुर्सी पढ़ने वाला अगर दूसरी नमाज़ के वक़्त से पहले मर जाय तो जन्नत में जाएगा । (बीहक़ी)

Read More »

हदीस शरीफ

हदीस शरीफ

हज़रत अनस रज़ी अल्लाहो तआला अनहो से रिवायत है रसूल-ए-पाक (स०अ०व०) ने फ़रमाया घर में नमाज़ पढ़ कर घरों को भी फ़ज़ीलत दो । (इबन ख़ुज़ैमा)

Read More »

हदीस शरीफ

हदीस शरीफ

हज़रत अबू सईद बिन मुअल्ला रज़ी अल्लाहो तआला अनहो से रिवायत है रसूल-ए-पाक (स०अ०व०) ने एक सहाबी से फ़रमाया मैं तुम्हें एक सूरत सिखाता हूँ जो सवाब में तमाम सूरतों से बड़ी है फिर आप ने सूरा फ़ातिहा की तालीम की । (बुख़ारी शरीफ़)

Read More »
TOPPOPULARRECENT