Friday , November 24 2017
Home / Literature

Literature

जयपुर- बेची जा रही लव जिहाद पर भड़काऊ किताब, लिखा- मुस्लिम आतंकवादी, हिन्दू लड़किया फ़साते हैं

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ(RSS) से सहबद्ध हिंदू आध्यात्म एवं सेवा फाउंडेशन (HSSF) द्वारा आयोजित किये गए मेले मे  विश्व हिंदू परिषद (VHP) और बजरंग दल के सदस्यों के विवादित लव जिहाद की बुकलेट बांटने का मामला सामने आया है।  इस मेले को  बुकलेट के जरिए मुस्लिम विरोधी तथ्यों को बढ़ावा दिया जा रहा …

Read More »

जन्मदिन विशेष- कौन थे अकबर इलाहाबादी, जिन्हें ब्रिटिश सरकार ने खान बहादुर की उपाधि से नवाज़ा था

16 नवंबर 1846 की पैदाइश और 15 फरवरी सन 1921 को दुनिया से रुख्सती. इलाहाबाद में जन्मे, इलाहाबाद में मरे. इसीलिए ताउम्र इलाहाबादी रहे. असली नाम था सैयद हुसैन. समाज को आइने की चकाचौंध में रखने वाले दमदार शायर के अलावा वो सरकारी आदमी थे भाई. वकालत की पढ़ाई की …

Read More »

क्या यह हो सकता है कि समय स्थिर हो और हम अकेले गतिशील हो जाएं ? जावेद अख्तर

कवि गीतकार जावेद अख्तर ने ‘टाइम (समय)’ के बारे में उर्दू में एक सुंदर कविता प्रस्तुत की है। यह  सुंदर कविता का अंग्रेजी अनुवाद उनकी पत्नी शबाना आज़मी द्वारा किया गया है। गीतकार जावेद अख्तर ने यह प्रस्तुति शांतिनिकेतन और दूरदर्शन कोलकाता द्वारा एक कार्यक्रम में किया था। समय के …

Read More »

हिंदी के प्रसिद्ध कवि कुंवर नारायण सिंह का निधन, दिल्ली में ली अंतिम सांस

हिंदी के प्रसिद्ध कवि कुंवर नारायण सिंह का आज सुबह निधन हो गया है| रिपोर्ट के मुताबिक़ कुंवर नारायण जी पिछले कुछ दिनों से बीमार चल रहे थे| बीमारी से लम्बे संघर्ष के बाद आज उनका निधन हो गया| उन्होंने राजधानी दिल्ली के सीआर पार्क में अंतिम सांस ली| सीआर …

Read More »

VIDEO- ये वक़्त क्या है ये क्या है आख़िर कि जो मुसलसल गुज़र रहा है

ये वक़्त क्या है ये क्या है आख़िर कि जो मुसलसल गुज़र रहा है ये जब न गुज़रा था तब कहाँ था कहीं तो होगा गुज़र गया है तो अब कहाँ है कहीं तो होगा कहाँ से आया किधर गया है ये कब से कब तक का सिलसिला है ये …

Read More »

वंदे मातरम के साथ शुरू हुआ “11वें दिल्ली अंतरराष्ट्रीय कला महोत्सव”

नई दिल्ली। भारत का सबसे बड़ा कला एवं संस्कृति महोत्सव दिल्ली अंतरराष्ट्रीय कला महोत्सव (डीआईएएफ) का रंगारंग शुभारंभ शनिवार को दिल्ली के ऐतिहासिक पुराना किला परिसर में बड़ी ही धूमधाम से हुआ। उद्घाटन के इस सुनहरे अवसर पर देश-विदेश के तमाम कलाकारों ने अपनी प्रस्तुति से समा बांधा। इस अवसर पर प्रसिद्धा …

Read More »

शीबा असलम फ़हमी की कविता- ‘कैसा होगा इनका भारत’!

कभी- कभी मेरे मन में ख्याल आता है की कैसा होगा इनका भारत? क्या उसमे ताज महल, मकबरे, मीनारें, इमाम बाड़े होंगे? क्या उसमे मुग़ल गार्डन, निशात बाग़, शालीमार बाग़ होंगे? क्या नर्गिस, गुल हिना, इत्र, गुलाब, तब भी महका करेंगे? क्या तब भी शेरवानी, अचकन, गरारे-शरारे लहराया करेंगे? क्या …

Read More »

पाकिस्तान में जन्मी भारत की सबसे उम्रदराज़ लेखिका कृष्णा सोबती को मिलेगा ज्ञानपीठ पुरस्कार

साहित्य के क्षेत्र में दिया जाने वाला देश का सर्वोच्च सम्मान ज्ञानपीठ पुरस्कार वर्ष 2017 के लिए हिन्दी की लेखिका कृष्णा सोबती को प्रदान किया जायेगा। पाकिस्तान में चिनाब नदी के किनारे छोटे से पहाड़ी कस्बे में 18 फरवरी 1925 को कृष्णा सोबती का जन्म हुआ था। वो इस समय …

Read More »

जश्न-ए-अदब 27, 28 और 29 को होगा आयोजित, सीट बुक करने के लिए यहाँ करें रजिस्टर!

दिल्ली के इंदिरा गाँधी नेशनल सेंटर फॉर आर्ट्स में 3 दिवसीय जश्न-ए-अदब कविता उत्सव आयोजित होने जा रहा है. बताया जा रहा है कि कला जगत की जानी मानी हस्तियाँ इस उत्सव में अपना जलवा बिखेरेंगी. दिल्ली में 3 दिवसीय जश्न-ए-अदब कविता उत्सव 27 अक्टूबर से शुरू होने जा रहा …

Read More »

अॉस्ट्रेलिया में गूंजेगी मशहूर शायर ‘इमरान प्रतापगढ़ी’ की शायरी

मशहूर शायर इमरान प्रतापगढ़ी की शायरी अब अॉस्ट्रेलिया के सिडनी में गूंजने वाली है। भारत के इस मशहूर शायर की पॉप्युलैरिटी लगातार बढ़ रही है। इससे पहले वह दुबई में कई प्रोग्राम कर चुके हैं। भारत सहित दुनिया के बड़े – बड़े शायरों के साथ स्टेज साझा कर चुके हैं। …

Read More »

अमेरिकी लेखक जॉर्ज सॉन्डर्स को मिला 2017-मैन बुकर पुरस्कार

अमेरिकी लेखक जॉर्ज सॉन्डर्स ने अपने उपन्यास ‘लिंकन इन द बार्दो’ के लिए ब्रिटेन का प्रख्यात मैन बुकर पुरस्कार जीता है। यह पुरस्कार जीतने वाले वह दूसरे अमेरिकी लेखक बन गए हैं। अंग्रेजी भाषा के प्रतिष्ठित साहित्यिक पुरस्कार के लिए जजों ने इस किताब की प्रशंसा बिल्कुल मूल कृति के रूप …

Read More »

मल्लिका-ए-गज़ल बेगम अख्‍तर के जन्‍मदिन पर गूगल ने डूडल बना दी श्रृद्धांजलि

बेगम अख्तर के जन्मदिवस के अवसर पर गूगल ने उनका डूडल बना उन्हें श्रृद्धांजलि दी है। मल्लिका-ए-गजल के नाम से मशहूर बेगम अख्तर का आज यानि 7 अक्टूबर को 103वां जन्मदिन है। बेगम अख्तर का जन्म 1914 में हुआ था।  गूगल द्वारा बनाए गए इस डूडल में बेगम अख्तर की …

Read More »

साहित्य 2017 का नोबेल पुरस्कार ब्रिटिश लेखक ‘काजुओ इशिगुरो’ को दिया गया

नई दिल्ली। साहित्य के लिए नोबेल पुरस्कार का ऐलान कर दिया गया है। इस बार यह पुरस्कार ब्रिटिश लेखक को दी गई है। वर्ष 2017 के नोबेल पुरस्कार से साहित्य के क्षेत्र में ब्रिटिश लेखक काज़ुओ इशिगुरो को उनके उपन्यास के लिए नवाजा गया है। काज़ुओ इशिगुरो को उनके उपन्‍यास …

Read More »

भारत में पहली बार प्रदर्शित हुई “सिंगिंग फॉर फ्रीडम”

नई दिल्ली: इस वर्ष गाँधी जयंती के अवसर पर ह्यूमन फॉर ह्यूमैनिटी ने महिलाओ के ऊपर हो रहे अत्याचार औरउन अत्याचार के खिलाफ आवाज़ उठाने की एक नई पहल की है जहा सभी तरफ स्वछता की ओर ध्यान दे रहे है और महिलाओ के ऊपर हो रहे अत्याचार पर किसी का ध्यान ही नहीं है. ह्यूमन फॉर ह्यूमैनिटी के संस्थापक अनुराग चौहान ने गाँधी जी के कथनो के अनुसार अहिंसा का रास्ता अपनाते हुए शांति पूर्वक महिलाओ के ऊपर हो रहे अत्याचार के खिलाफ आवाज़ उठाने का फैसला किया है और इस सन्देश को जन जन तक पहुचाने का संकल्प लिया है. ह्यूमन फॉर ह्यूमैनिटी के इस कार्यक्रम को युनीसेफ गुडविल अम्बेसडर नन एनी छोयिंग ड्रोल्मा एवं फेमनिस्ट कार्यकर्ता कमला भसीन जी का पूरा समर्थन मिला साथ ही पेंग्विन इंडिया की एडिटर इन चीफ मिली ऐश्वर्या भी उपस्थित रही. ह्यूमन फॉर ह्यूमैनिटी के श्री अनुराग चौहान  ने आगे कहा की हम पूरी दुनिया को तो नहीं बदल सकते लेकिन शुरुआत तो कर ही सकते है. अनुराग ने 16 वर्ष की आयु से ही समाज सेवा की शुरुआत देहरादून से की और उस छोटी सी उम्र में ही उन्होंने अपने स्तर पर समाज में सुधार लाने की कोशिश की और तब से ही वो हमेशा के लिए सामाजिक कार्यो से जुड़ गए. ये संगठन 16 देशो से इंटर्न कराता है जो भारत के स्लम क्षेत्रों में विभिन्न मुद्दों कर रहा है जैसे स्वछता, स्मार्ट स्ट्रीट, ईच वन टीच वन, क्लीन इंडिया कैंपेन, प्रमोशन ऑफ़ इंडियन कल्चर ऑफ़ हेरिटेज. सबसे मत्वपूर्ण बात अहिंसा को ध्यान में रखते हुए जैसा की कार्यक्रम में आयी महिलाओ से बातचीत के दौरान उनोहोने अपने संघर्ष और सफलताओ के बारे में बताया. इस अवसर पर एनी की विश्व प्रशिद्ध बुक ” सिंगिंग फॉर फ्रीडम ” भारत में पहली बार प्रदर्शित हुई. ह्यूमन फॉर ह्यूमैनिटी ने एनी छोयिंग को 50 सबसे प्रभावशाली महिला 2017 के साथ पुरुस्कृत किया गया जो की अनुराग चौहान एवं कमला भसीन के द्वारा दिया गया.

Read More »

उर्दू एक ऐसी भाषा है जो हम सब रोज़ रोज़ाना बोलते हैं: शबाना आज़मी

नई दिल्ली: बॉलीवुड की अनुभवी अभिनेत्री और मशहूर लेखक जावेद अख्तर की पत्नी शबाना आज़मी ने इस बात पर ख़ुशी व्यक्त की है कि देश के युवा आज भी उर्दू सीखने के लिए पहल कर रहे हैं क्योंकि उनका मानना है कि उर्दू भाषा किसी भी विशेष सेक्शन तक सीमित …

Read More »

ग़ज़लों का एक खूबसूरत अहसास है एलबम “देखो तो”

नई दिल्ली: तेज रफ्तार ज़िंदगी की जद्दोजहद में तेजी से सब कुछ बदल रहा है। फैशन से लेकर जीवन-शैली, रहन-सहन, सोच, संस्कार, कला-संस्कृति, गीत-संगीत और आत्मीय मंथन जैसे सब बदल गया है। मॉडर्न दुनिया के बदले अहसास में मॉडर्न होने की चाह में हमने खुद को अलग ही रंगढंग में ढाल दिया …

Read More »

बर्थ डे स्पेशल: लेखकों, कवियों की पहचान को संजोता जामिया का प्रेमचंद अभिलेखागार

बर्थ डे स्पेशल: लेखकों, कवियों की पहचान को संजोता जामिया का प्रेमचंद अभिलेखागार

पुराने लेखकों और कवियों की कृतियां, अच्छी तस्वीरें एवं उनसे जुड़ी जानकारी इंटरनेट या किसी एक स्थान पर शायद ही सटीक रूप से मिलती हैं। इस स्थिति को देखते हुए जामिया मिलिया इस्लामिया ने विश्वविद्यालय परिसर में प्रेमचंद्र अभिलेखागार स्थापित किया है और जहां साहित्य में रूचि रखने वालों, शोध …

Read More »

आबिद अली खान शैक्षिक ट्रस्ट की उर्दू परीक्षा में 244 केंद्रों पर 43000 उम्मीदवार हुए शामिल

आबिद अली खान एजुकेशन ट्रस्ट ने आंध्र प्रदेश और पड़ोसी राज्यों के अन्य जिलों में 244 केंद्रों पर उर्दू दानी ज़बान दानी और इदारा-ए-आदबियात-ए-उर्दू की इनशाई की परीक्षाओं को कराया गया। अपने निश्चित समय के अनुसार परीक्षा 10 बजे शुरू हुई। केंद्रों पर 43000 कैंडिटेट शामिल हुए। उर्दू दान्या के …

Read More »

लेखक बनने के लिए जल्दबाजी नहीं करनी चाहिए- जावेद अख्तर

मुंबई। बॉलीवुड के दिग्गज लेखक और गीतकार जावेद अख्तर ने अब तक के अपने करियर में खूब नाम के साथ इज्जत और शोहरत भी हासिल की है। हाल ही में उन्होंने कहा है कि एक लेखक के रूप में संवेदनशीलता थाली में परोसकर नहीं आती और यह किसी दुकान में …

Read More »

मीडिया का हाथ-पैर पीछे बांधकर तोड़ दिया गया है, यह गौरक्षा पर PM मोदी से सवाल नहीं पूछ सकता: अभिसार शर्मा

चोटिल हूँ, लिहाज़ा कुछ दिनों से लिख नहीं पा रहा हूँ। हाथ टूट गया है। बडी हिम्मत करके कुछ लिख रहा हूं। खुद बेबस हूं, और मेरा पेशा, यानि पत्रकारिता मुझसे भी ज़्यादा बेबस है। मेरा तो सिर्फ हाथ टूटा है, मगर मौजूदा पत्रकारिता के हाथ पैर पीछे से या …

Read More »
TOPPOPULARRECENT