Wednesday , August 15 2018

Literature

उर्दू पढ़ने से दिमाग होता है तेज़, तनाव से भी मिलती है मुक्ति- रिसर्च

लखनऊ : आप ने कभी सोचा था कि उर्दू कविता या गद्य पढ़ना आपके दिमाग को टोन कर सकता है?  लखनऊ में सेंटर फॉर बायो-मेडिकल रिसर्च (सीबीएमआर) द्वारा हालिया एक अध्ययन में पाया गया है कि उर्दू पढ़ने से मस्तिष्क के विकास में मदद मिलती है। सीबीएमआर में न्यूरो-इमेजिंग विभाग के …

Read More »

भारतीय मूल के नोबेल पुरस्कार विजेता वीएस नायपॉल का निधन

साहित्य का नोबल पुरस्कार जीतने वाले भारतीय मूल के प्रसिद्ध लेखक वीएस नायपॉल का रविवार तड़के निधन हो गया है. उन्होंने 85 साल की उम्र में लंदन स्थित अपने घर में आखिरी सांस ली. बता दें कि वीएस नायपॉल यानी विद्याधर सूरज प्रसाद नायपॉल का जन्म 17 अगस्त सन 1932 …

Read More »

राहत इंदौरी: ’चोर, उचक्कों की करो कद्र… मालूम नहीं, कौन कब कौन सी सरकार में आ जाएगा’

इस दौर के सबसे मशहूर और काबिल शायर राहत इंदौरी को कौन नहीं जानता है। देश और पुरी दुनिया ने इनके शेरों का खूब लुत्फ उठाया है। दि कपिल शर्मा के टीवी शो में आकर उन्होंने एक शेर ऐसी पढ़ी की सभी ने खूब लुत्फ़ उठाए। https://youtu.be/K-4KfG2m3bc इंदौरी ने राजनीति …

Read More »

मातृभाषा हमें अधिक संवेदनशील और ईमानदार बनाती है, वेदेशी भाषा में झूठ बोलना बहुत आसान : रिसर्च

झूठ बोलना गंदे हरकतों में शामिल है, लेकिन अगर सच में आप झूठ बोलने के आदि हो चुके हैं तो शोधकर्ताओं ने पाया है कि अपनी भाषा में झूठ बोलने से बेहतर है कि आप विदेशी भाषा में झूठ बोलें चूंकि जब कोई विदेशी भाषा में झूठ बोलता है तो …

Read More »

शोखियों में घोला जाये…लिखने वाले नीरज नहीं रहे, उनके ये गाने मशहूर

जाने-माने कवि और गीतकार गोपालदास नीरज का गुरुवार को निधन हो गया. दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में उनका इलाज चल रहा था. नीरज 93 वर्ष के थे. बॉलीवुड फिल्मों में लिखे उनके कई गाने बेहद मशहूर हुए. 4 जनवरी 1925 को उत्तर प्रदेश के इटावा में जन्मे नीरज …

Read More »

माता-पिता अपने बच्चों के लिए क्रेडिट कार्ड बनने को तैयार होते हैं, बच्चों को कब अक्ल आएगी वो कम से कम आधार कार्ड तो बने !

रांची : रजनीकान्त नाम के एक व्यक्ति कि उम्र 45 साल हो चुके थे। एक दिन उनकी पत्नी चल बसी कुछ दिन बाद जगदीश जी के रिश्तेदार और दोस्त फिर से घर बसा लेने कि बात कही, लेकिन रजनीकान्त जी नहीं माने, उन्होने कहा मेरे पास मेरी पत्नी का दिया …

Read More »

अमीर खुसरो के 714वें उर्स पर विशेष : खुसरो का ह. निज़ामुद्दीन औलिया से था बेपनाह मुहब्बत

नई दिल्ली : अबुल हसन यमीनुद्दीन अमीर ख़ुसरो (1253-1325) चौदहवीं सदी के लगभग दिल्ली के निकट रहने वाले एक प्रमुख कवि शायर, गायक और संगीतकार थे। अमीर खुसरो प्रथम मुस्लिम कवि थे जिन्होंने हिंदी शब्दों का खुलकर प्रयोग किया है I वह पहले व्यक्ति थे जिन्होंने हिंदी, हिन्दवी और फारसी …

Read More »

VIDEO : पाकिस्तान के 11 वर्षीय लड़का विश्वविद्यालयों और शैक्षिक केंद्रों में व्याख्यान देकर फैलाया सनसनी

इस्लामाबाद : 11 वर्षीय प्रेरक वक्ता कई विश्वविद्यालय के छात्रों और दूसरों को अपने आत्मविश्वास और अपने बॉडी लैंग्वेज से अपने भाषणों से पाकिस्तान में एक सनसनी का कारण बन गया है। हम्माम सफी ने पाकिस्तान के आसपास कई विश्वविद्यालयों और शैक्षिक केंद्रों में व्याख्यान दिया है जिसमें मिन्हाज विश्वविद्यालय …

Read More »

पुलित्जर पुरस्कार विजेता चार्ल्स क्राउथमर का निधन

पुलित्जर पुरस्कार विजेता स्तंभकार और विश्लेषक चार्ल्स क्राउथमर का निधन हो गया। वह 68 वर्ष के थे। फॉक्स न्यूज और वाशिंगटन पोस्ट के लंबे वक्त तक कर्मी रहे क्राउथमर के निधन की घोषणा गुरूवार को की गयी। क्राउथमर पिछले एक साल से पेट के कैंसर का इलाज चल रहा था। …

Read More »

सीरियाई-अमेरिकी अंतर्राष्ट्रीय कवि अमल कस्सीर TEDx Mile High Women सम्मेलन में

पहले तो ये जान लें कि TEDx टॉक है क्या, तो TEDx टॉक सम्मेलन में प्रेरक वक्ता और बड़े विचार वाले लोगों को मौका दिया जाता है दर्शकों को इंस्पायरिंग बातों से रू-ब-रू कराने के लिए. हाल ही में भारत में भी शाहरूख खान द्वारा यह शो शुरू किया गया …

Read More »

इस्लाम के खिलाफ़ लिखने वाली तस्लीमा बोली- ‘मरने के बाद मुझे मत दफनाना’

मशहूर विवादित लेखिका तस्लीमा नसरीन आए दिन अपने विवादास्पद बयानों के चलते सुर्खियों में रहती हैं। हाल ही में उन्होंने फिर कुछ ऐसा किया है कि जिसकी वजह से पूरी दुनिया में उनकी चर्चाएं हो रही हैं। दरअसल तस्लीमा नसरीन ने एक बड़े फैसले के तहत अपने शरीर को मरने …

Read More »

फैज़ अहमद फैज़ की बेटी दिल्ली से ‘ निर्वासित ’ वतन वापस लौटाई गयीं

इसका कोई क्या मतलब निकाले जब एक सरकार पड़ोसी मुल्क की सरकार के प्रति अपनी रंजिश का नजला मुनीज़ा हाशमी, जो कि मशहूर शायर फैज़ अहमद फैज़ की बेटी हैं, जैसी नामीचीन शख्सियत पर गिराये, उन्हें दिल्ली में एक सम्मेलन में शामिल होने से रोके, यहां तक कि उन्हें सम्मेलन …

Read More »

समाज को अलग तरह से देखने वाले मंटो कहे जाते थे अफसानों के उस्ताद

सआदत हसन मंटो की आज जयंती है. उनका जन्म 11 मई 1912 को हुआ था. वह उर्दू के सबसे बड़े कलमनिगार थे. उन्होंने अपनी कलम से ऐसी रचनाएं लिख डालीं जिसे आज तक याद किया जाता है. उनकी लिखावट बहुत लोगों के लिए आग है तो वहीं कइयों के लिए …

Read More »

पाकिस्तान के मशहूर शायर फैज अहमद फैज़ की बेटी को दिल्ली में एक इवेंट में भाग लेने से रोका गया

पाकिस्तान के मशहूर उर्दू शायर फैज़ अहमद फैज़ की बेटी को एक सांस्कृतिक कार्यक्रम के लिए दिल्ली आने का न्योता दिया गया तो उन्हें वो प्यार नहीं मिला. फैज अहमद फैज़ की बेटी मोनीज़ा हाशमी जानी-मानी टीवी और मीडिया पर्सनालिटी है. उन्हें इन दिनों दिल्ली में चल रहे 15 वें …

Read More »

कहानी : लोकतंत्र वयवस्था के माध्यम से बंदर बना जंगल का राजा

इस कहानी में लोकतंत्र के माध्यम से जंगल में बंदर को राजा बनने की कहानी बताई गई है। एक जंगल में बंदरों की बहुत आबादी थी सारे जानवरों में से बंदरों की आबादी ज्यादा हो चुकी थी। जब पूरी दुनिया में लोकतन्त्र की धूम मची हुई थी पूरी दुनिया लोकतन्त्र …

Read More »

वाराणसी के संकट मोचन मंदिर द्वारा दिया गया ‘शांतिदूत’ पुरस्कार मेरे लिए गर्व की बात : जावेद अख्तर

मुंबई : पटकथा लेखक, गीतकार और सामाजिक कार्यकर्ता जावेद अख्तर ने वाराणसी के संकट मोचन मंदिर द्वारा दिए गए ‘शांतिदूत’ पुरस्कार प्राप्त कर उन्हें ट्रोल करने वालों को करारा जवाब दिया है। उन्होंने कहा कि उन्हें इस पुरस्कार पर गर्व महसूस हो रहा है। यह पुरस्कार शांति के लिए काम …

Read More »

ऊर्दू पढ़ने वालों के लिए बड़ी खबर, ई- किताब ऐप्स लॉन्च

राष्ट्रीय उर्दू भाषा विकास परिषद की ओर से पांचवां विश्व उर्दू सम्मेलन शुरू हो गया है। इसमें भारत समेत 18 देशों के उर्दू के विद्वान, शायर, पत्रकार और जानकार हिस्सा ले रहे हैं। सोमवार तक होने वाले उर्दू सम्मेलन की थीम ‘उर्दू भाषा, संस्कृति और वर्तमान वैश्विक समस्याएं’ हैं। सम्मलेन …

Read More »

देश के जाने-माने कवि केदारनाथ सिंह का निधन

आधुनिक हिंदी साहित्य के मशहूर कवि और लेखक केदारनाथ सिंह का सोमवार शाम दिल्ली के एम्स हॉस्पिटल में निधन हो गया। उत्तर प्रदेश के बलिया जिले के चकिया में एक जुलाई 1934 में जन्मे सिंह को वर्ष 2013 में भारतीय ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित किया गया। यह पुरस्कार पाने वाले …

Read More »

‘दिन भर में एक पल भी ऐसा नहीं ग़ुज़रता, जब वो सामने हो और मैं उसे न देखूं’

मैं अकसर ये सोचा करता हूं, काश उसे बता पाऊं कि वो कितनी सुंदर है। अहसास कराऊं कि उसे जीवनसाथी, दोस्त, पत्नी के रूप में पाकर मैं दुनिया का सबसे ख़ुशनसीब इंसान हूं। जब भी उसे देखता हूं उससे फिर से प्यार हो जाता है। पिछले 14 सालों से मैं …

Read More »

सूफी संगीत का त्यौहार जहां-ए-खुसरू हुमायूँ मकबरे के परिसर में

नई दिल्ली : जहां-ए-खुसरू, वार्षिक विश्व सूफी संगीत महोत्सव 2001 में दिल्ली में शुरू किया गया था। फिल्म निर्माता-चित्रकार मुजफ्फर अली द्वारा निर्देशित, जहां-ए-खुसरू दिल्ली के सांस्कृतिक कैलेंडर में एक नियमित विशेषता रहा है इस त्यौहार को पूरे विश्व में सूफी परंपराओं के प्रतिष्ठित कलाकारों की मेजबानी करने का गौरव …

Read More »
TOPPOPULARRECENT