अंजुमन इस्लामिया रांची ने श्रीलंका में हुए आतंकी हमले की निंदा की, ईसाइयों के साथ दिखाया एकजुटता

अंजुमन इस्लामिया रांची ने श्रीलंका में हुए आतंकी हमले की निंदा की, ईसाइयों के साथ दिखाया एकजुटता

रांची : अंजुमन इस्लामिया रांची और विभिन्न मुस्लिम सामाजिक संगठनों के द्वारा श्रीलंका में हुए आतंकी हमले की निंदा करने और हमारे ईसाई भाइयों के साथ एकजुटता और भाईचारे को प्रकट करने के लिए एक शांति अभियान की शुरुआत की गई। पीड़ितों को सांत्वना देने और अपनी सहानुभूति प्रेम और शांति प्रदान करने के उदेश्य से एकजुटता के संदेश के साथ आज सुबह 6 बजे संत जॉन चर्च मिशन चौक डॉ कामिल बुल्के पथ स्थिति चर्च के बाहर नारे और सलोगन लिखे तख्ती बैनर के साथ खड़े होकर यह दिखाने की कोशिश की कि हम एकजुट रहें और नफरत हमें विभाजित नहीं कर सकती।

आतंकवाद का कोई धर्म नही होता है। धार्मिक कट्टरता और उन्माद आतंकवाद की जननी है। हम सब अपने ईसाई भाई के दुख की इस घड़ी में साथ खड़े है। आज के इस शांति मार्च में आतंकवाद से लड़ने वाली न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री jacinda Ardern के आतंकवाद से लड़ने की तरीकों की सराहना की गई। न्यूज़ीलैंड के मस्जिद में आतंकी हमले के बाद जिस तरह एक राष्ट ने मुसलमानों के जज़्बात को शांति, सद्भावना को बढ़ाया यह पूरे विश्व के लिए उदहारण बना। न्यूज़ीलैंड की प्रधानमंत्री आज आतंकवाद के खात्मे की ज़िंदा मिशाल है। बैनर और तख्तों में इस तरह के नारे लिखे हुए थे। धार्मिक कट्टरता नफरत और उन्माद।

और न कर पाए विश्व को बरबाद।, नफरत का ज़हर।
ना बरपाए क़हर। , धर्माधंता जब बढ़ती है
आतंक की नीव पड़ती है
प्रेम का संदेश फैलाना है

आतंकवाद को मिटाना है, धार्मिक कट्टरता ने कब ये जाना है
मस्जिद है या गिरजा कब पहचानना है, किसने फिज़ा में नफरत का ज़हर बोया
किसी ने माँ, किसी ने अपना लाल खोया, प्रेम,दया,करुणा और सम्मान

मानवता की बस यही पहचान, प्रत्येक मानव का एक नारा।
न छीने कोई हमसे भाईचारा।

इसी तरह का एक और कार्यक्रम झरखंड के सिमडेगा में भी आयोजित किया गया।

आज के इस आयोजन में मुख्य रूप से अंजुमन इस्लामिया के अध्यक्ष इबरार अहमद, मौलाना ताज़हीबुल हसन, डॉ एम. एन. ज़ुबैरी, मो. गियासुद्दीन , डॉ. तहसीन जमा खान, एडवोकेट ज़ैद, सैय्यद इबरार, सय्यद मेराज हसन, प्रो शकील, सुहैल अख्तर, खालिद सैफुल्लाह, हसनैन , खलील, मतीउर रहमान, नवाब भाई, सईद अहमद, असदुल्लाह, अरशद, जावेद,सरफ़राज़, सलाहुद्दीन, शोएब , कासिफ,अब्दुल अजीज, इम्तियाज, तनवीर अहमद और इतियादी मौजूद थे।

Top Stories