Monday , December 18 2017

अंजुमन महबान उर्दू का आलमी मुशायरा

हैदराबाद ।13 अप्रैल :अंजुमन महबान उर्दू का इजलास बसदारत सय्यदमिस्कीन अहमद मुनाक़िद हुआ जिस में तै किया गया कि अंजुमन का तीसरा आलमी मुशायरा 21 मई को ललित कलाथोरनम नामपली में ज़ेर-ए-सदारत जनाब ज़ाहिद अली ख़ां ऐडीटर सियासत मुनाक़िद क

हैदराबाद ।13 अप्रैल :अंजुमन महबान उर्दू का इजलास बसदारत सय्यदमिस्कीन अहमद मुनाक़िद हुआ जिस में तै किया गया कि अंजुमन का तीसरा आलमी मुशायरा 21 मई को ललित कलाथोरनम नामपली में ज़ेर-ए-सदारत जनाब ज़ाहिद अली ख़ां ऐडीटर सियासत मुनाक़िद किया जायगा ।

मुशायरा के इलावा समीनार , शब ग़ज़ल का भीइनइक़ाद अमल में लाया जाएगा । मुशायरा में कुवैत , क़ुतर , दुबई के इलावा हिंदूस्तान के नामवर ( उर्दू / हिन्दी ) , शारा-ए-को मदऊ किया जाएगा । शब ग़ज़ल के लिए मुक़ामी फ़नकारों के इलावा राजिंदर सिंह ( मुंबई ) (शागिर्द नौशाद मरहूम ) ने शिरकत से इत्तिफ़ाक़ किया है ।

अंजुमन के मुशाविरों कुमलक के चुनिंदा मुशाविरों में शुमार किया जाता हैं। अंजुमन अपने महिदूद वसाइल के बावजूद दाख़िला की आम इजाज़त रखते हुए बेहतर से बेहतर इंतिज़ामात का रिकार्ड रखती है । कन्वीनर मुशायरा सय्यद मिस्कीन अहमद , मुआविनमुहम्मद ज़हीर उद्दीन इक़बाल , कन्वीनर समीनार ज़ाहिद कादरी मुआविन मुख़तार फरदीन, कन्वीनर शब ग़ज़ल अदनान शालिम होंगे । शायान-ए-शान इंतिज़ामात के लिए ज़ेली कमेटियां तशकील दी गई हैं ।।

TOPPOPULARRECENT