Friday , April 27 2018

अंतिम संस्कार का बिजनेस करने वाले माफिया से मौत का इंजेक्शन लगाने पर नर्स को मिलता था कमीशन, गिरफ्तार

इटली में एक ऐसी एंबुलेंस का पता चला है कि जिसमें माफिया के इशारों पर एंबुलेंस के भीतर मरीज को मौत का इंजेक्शन लगा दिया जाता था. आरोप है कि मरीजों के मरने पर नर्स को माफिया से कमीशन मिलता था. एक मौत के बदले 300 यूरो. पुलिस को शक है कि 50 अन्य मामलों में भी इस नर्स की भूमिका है. सिसली की पुलिस ने तीन हत्याओं के मामले में एंबुलेंस के मेल नर्स को गिरफ्तार किया है. नर्स पर 55 से 90 साल की उम्र के तीन मरीजों की हत्या का आरोप है. पुलिस को शक है कि पुरुष नर्स, अंतिम संस्कार का बिजनेस करने वाले माफिया से जुड़ा था.

असल में गंभीर रूप से बीमार लोगों को अस्पताल आखिरी सांस लेने के लिए घर भेज देता था. इस दौरान 42 साल का डाविडे गारोफालो उन्हें एंबुलेंस में ले जाता था. जांचकर्ताओं के मुताबिक डाविडे रास्ते में ही मरीजों को हवा भरा इंजेक्शन देकर मार देता था. फिर शोक में डूबे परिवार का संपर्क वह एक अंतिम संस्कार करने वाली एजेंसी से कराता था. पुलिस का दावा है कि अंतिम संस्कार करने वाली एजेंसी से डाविडे को 300 यूरो मिलते थे. पुलिस ने डाविडे पर लालच के चलते इंसान की गरिमा को भंग करने का आरोप लगाया है. इस मामले में दो और लोगों के खिलाफ जांच चल रही है.

यह खबर बाहर आने के बाद मृतकों के कुछ परिजनों में भारी गुस्सा है. सरकारी रेडियो राई से बात करते हुए एक व्यक्ति ने कहा, “अगर उन्होंने ऐसा किया है तो वे बहुत ही खराब लोग हैं. 300 यूरो के लिए आप किसी इंसान को नहीं मार सकते.” सिसली में अंतिम संस्कार के कारोबार का बड़ा हिस्सा माफियाओं के हाथ में है.

TOPPOPULARRECENT