Sunday , December 17 2017

अकबरी मस्जिद की तामीर गै़रक़ानूनी, उसे हटाया जाय: हाइकोर्ट

दिल्ली हाईकोर्ट ने साफ़ कह दिया है कि लाल क़िला के नज़दीक मेट्रो रेल प्रोजेक्ट के मुक़ाम पर हालिया नाजायज़ तामीरात हर हालत में हटानी होंगी।

दिल्ली हाईकोर्ट ने साफ़ कह दिया है कि लाल क़िला के नज़दीक मेट्रो रेल प्रोजेक्ट के मुक़ाम पर हालिया नाजायज़ तामीरात हर हालत में हटानी होंगी।

हाईकोर्ट ने पुलिस को हिदायत दी है कि इस इलाखे का मुहासिरा करले जहां मुग़ल अह्द की अकबरी मस्जिद के खन्डरात पाए गए हैं और महिकमा आसारे-ए-क़दीमा को भी हिदायत दी है कि वो मुक़ामी ऐम एलए और उन के हामीयों के तामीर करदा गै़रक़ानूनी तामीरात को मुनहदिम करदे।

कारगुज़ार चीफ़ जस्टिस ए के सीकरी, जस्टिस संजय किशन कोल और जस्टिस राजीव सखदर पर मुश्तमिल मुकम्मल बंच ने कल कहा, क़ानून की हुक्मरानी नाफ़िज़ की जाएगी चाहे क़ियामत टूट पड़े, और ए ऐस आई को हिदायत दी है कि वो नो तामीर शूदा ढांचा को ढह दे।

अदालत ने ए ऐस आई को मुक़ामी ऐम एलए शुऐब इक़बाल और हामीयों की जानिब से तामीरात को गिराने के अमल के बारे में आइन्दा जुमा तक कार्रवाई रिपोर्ट पेश करने की हिदायत दी है और अगली समाअत की तारीख़ 30 अगस्त तए की।

TOPPOPULARRECENT