Thursday , December 14 2017

अकबर ओवैसी की ज़मानत मंज़ूर निर्मल में दाख़िल ना होने , तक़रीर ना करने की हिदायत

हैदराबाद 16 फ़बरोरी:अकबर ओवैसी की आज ख़राबी सेहत की बिना आदिलबाद और निज़ामबाद की अदालतों में मशरूत ज़मानत मंज़ूर करली गई। जिस के बाद वो क़ैद-ओ-बंद से बाहर आजाऐंगे।

हैदराबाद 16 फ़बरोरी:अकबर ओवैसी की आज ख़राबी सेहत की बिना आदिलबाद और निज़ामबाद की अदालतों में मशरूत ज़मानत मंज़ूर करली गई। जिस के बाद वो क़ैद-ओ-बंद से बाहर आजाऐंगे।

अकबर ओवैसी को निर्मल और निज़ामबाद में नफ़रतअंगेज़ तक़ारीर के इल्ज़ाम में गिरफ़्तार किया गया था। उन के वुकला एडवोकेट निरंजन रेड्डी , एम ए अज़ीम और एडवोकेट मुहम्मद ग़ौस ने दोनों मुक़ामात की अदालतों में दरख़ास्त ज़मानत पेश की थी और ये इस्तिदा की थी कि अकबर ओवैसी की बिगड़ती हुई सेहत के पेशे नज़र दरख़ास्त ज़मानत मंज़ूर की जाये ताके हैदराबाद के सुपर सपीशालीटी हॉस्पिटल में इन का ईलाज करवाया जा सके।

लेकिन अनंतपुर की मुक़ामी कोर्ट ने अकबर ओवैसी के ख़िलाफ़ एक पी टी वारंट ( परेज़नर टरांज़ट वारंट ) जारी किया है और 5 मार्च को अदालत में पेश करने की हिदायत दी । अनंतपुर 2 टावन पुलिस ने मजलिस रुकन असम्बली को गिरफ़्तार करने के लिए पी टी वारंट की दरख़ास्त वहां के मुक़ामी अदालत में दाख़िल की थी जिस पर अदालत ने वारंट जारी किया । वाज़िह रहे कि मजलिस रुकन असम्बली ने 18 दिसमबर को अनंतपुर टाव‌न में जल्सा-ए-आम से ख़िताब किया था इस के बाद वहां की पुलिस ने उन के ख़िलाफ़
दोनों फ़िरक़ों के दरमियान मुनाफ़िरत फैलाने और दीगर दफ़आत के तहत एक मुक़द्दमा दर्ज किया था ।

अनंतपुर पुलिस इस वारंट पर अमल आवरी करने से गुरेज़ करसकती है । ज़राए ने मज़ीद बताया कि सुपरिटनडनट आफ़ पुलिस अनंतपुर ने इस वारंट पर अमल आवरी के सिलसिले में अपने मातहतों को एक खु़फ़ीया अहकाम जारी किया है । आदिलबाद डिस्ट्रिक्ट के प्रिंसिपल जज ने अकबर ओवैसी की मशरूत ज़मानत मंज़ूर करते हुए उन्हें 25 हज़ार के दो मुचल्का निर्मल की कोर्ट में जमा करने और चंद शराएत पर अमल करने की हिदायत दी ।

बताया जाता है कि दरख़ास्त ज़मानत मंज़ूर करते हुए एडीशनल जज वेंकटेश्वर रेड्डी ने रुकन असम्बली को अपना पासपोर्ट जमा करवाने , निर्मल टाव‌न में दाख़िल ना होने , इश्तिआल अंगेज़ तक़ारीर से गुरेज़ करने , ज़रूरत पड़ने पर तहक़ीक़ाती एजंसियों से तआवुन करते हुए अपनी आवाज़ की रेकॉर्डिंग दुबारा फ़राहम करे और इस केस के गवाहों पर असरअंदाज़ ना करने की शराइत आइद की ।

दरें असना निज़ामबाद की अदालत में आज सुबह 10 हज़ार रुपये के शख़्सी मुचल्का और दो ज़मानतें पेश करने पर दरख़ास्त ज़मानत मंज़ूर करली गई। जबके शाम में आदिलबाद की अदालत ने भी अकबर ओवैसी की दरख़ास्त ज़मानत को 3 शराएत पर मंज़ूर करलिया। एडीशनल जज वेंकटेश्वरा रेड्डी ने मजलिसी रुकन असम्बली को हिदायत दी कि अपना पासपोर्ट हुक्काम के हवाले करदें।

निर्मल टाव‌न में दाख़िल ना हूँ और ना ही कोई तक़रीर करें। अदालत ने मज़कूरा शराएत की ख़िलाफ़वरज़ी पर ज़मानत मंसूख़ करदेने का इंतिबाह दिया। अकबर ओवैसी की दरख़ास्त ज़मानत की मंज़ूरी के साथ उन के वुकला हफ़्ते को मतलूबा ज़मानतें दाख़िल करने की तैयारी में मसरूफ़ होगए ।

TOPPOPULARRECENT