Friday , December 15 2017

अकलियती तलबा को मुकम्मल तालीमी फीस पर इतवार को एहतिजाज

मुवमेंट फ़ार पीस ऐंड जस्टिस (एम पी जे) ने अक़ल्लीयती तलबा को मुकम्मल तालीमी फ़ीस की अदायगी के लिए ऐडीटर सियासत जनाब ज़ाहिद अली ख़ां की जानिब से शुरू करदा मुहिम की मुकम्मल ताईद का ऐलान किया है।

मुवमेंट फ़ार पीस ऐंड जस्टिस (एम पी जे) ने अक़ल्लीयती तलबा को मुकम्मल तालीमी फ़ीस की अदायगी के लिए ऐडीटर सियासत जनाब ज़ाहिद अली ख़ां की जानिब से शुरू करदा मुहिम की मुकम्मल ताईद का ऐलान किया है।

एम पी जे के सदर जनाब हामिद मुहम्मद ख़ां ने 16 सितंबर को इस मसला पर एक रोज़ा एहतिजाज से इज़हार यगानगत किया और तलबा , ओलयाए तलबा और असातिज़ा से अपील की कि वो बड़ी तादाद में शिरकत करते हुए हुकूमत को अपनी नाराज़गी से वाक़िफ़ कराएं।

जनाब हामिद मुहम्मद ख़ां ने कहा कि फ़ीस बाज़ अदायगी की जद्द-ओ-जहद दरअसल अक़ल्लीयती तलबा के तालीमी मुस्तक़बिल का मसला है और हुकूमत इस स्कीम में तबदीली के ज़रीया अक़ल्लीयतों को आला तालीम से महरूम करने की कोशिश कर रही है।

उन्हों ने कहा कि इस तहरीक में तमाम मुस्लिम जमातों और तंज़ीमों को शामिल होजाना चाहीए। उनका कहना है हुकूमत एक तरफ़ अक़ल्लीयतों के लिए अलैहदा ज़ेली मंसूबाका वादा दे रही है तो दूसरी तरफ़ अक़ल्लीयतों की तालीम पर मज़ीद (अत्रिक्त) 50 करोड़ रुपय ख़र्च करने तैय्यार नहीं।

उन्हों ने अक़ल्लीयतों से अपील की कि वो इस स्कीम की बहाली के लिए मुत्तहदा तौर पर जद्द-ओ-जहद करें। हामिद मुहम्मद ख़ां ने जनाब ज़ाहिद अली ख़ां की जानिब से इस मुहिम के आग़ाज़ पर मुबारकबाद पेश की और ऐलान किया कि एम पी जे एहितजाजी प्रोग्रामों में बढ़ चढ़ कर हिस्सा लेगी।

एहतिजाज उस वक़्त तक जारी रहना चाहीए जब तक हुकूमत मुकम्मल फ़ीस अदा करने का ऐलान ना करदे।

TOPPOPULARRECENT