Monday , August 20 2018

अकलियती बहबूद ओहदेदारों को फ़लाही स्कीमात अमलावरी पर की हिदायत

अकलियती इदारों के लिए मुख़तस बजट के ख़र्च में तसाहुल और अकलियती स्कीमात पर अमल आवरी ना होने से मुताल्लिक़ शिकायात के दरमियान वज़ीरे अकलियती बहबूद मुहम्मद अहमदुल्लाह ने आज महकमे की कारकर्दगी का जायज़ा लिया।

अकलियती इदारों के लिए मुख़तस बजट के ख़र्च में तसाहुल और अकलियती स्कीमात पर अमल आवरी ना होने से मुताल्लिक़ शिकायात के दरमियान वज़ीरे अकलियती बहबूद मुहम्मद अहमदुल्लाह ने आज महकमे की कारकर्दगी का जायज़ा लिया।

स्पेशल सेक्रेटरी अकलियती बहबूद सय्यद उमर जलील और कमिशनर अकलियती बहबूद शेख़ मुहम्मद इक़बाल की मौजूदगी में मुनाक़िदा मीटिंग में अक़लियती फाइनैंस कारपोरेशन, क्रिस्चियन फाइनैंस कारपोरेशन, वक़्फ़ बोर्ड और सर्वे कमिशनर वक़्फ़ की कारकर्दगी पर अदम इतमीनान का इज़हार किया गया।

ज़िम्मेदारों को हिदायत दी गई कि वो मुक़र्ररा मुद्दत के दौरान तमाम सकीमात पर अमल-ओ-बजट के ख़र्च को यक़ीनी बनाईं। ओहदेदारों को हिदायत दी गई कि वो फ़लाही सकीमात के निशाना की तकमील में संजीदगी का मुज़ाहरा करें वरना हुकूमत ओहदेदारों की तबदीली पर मजबूर हो जाएगी।

मीटिंग में सेंटर फ़ार एजूकेशनल डेवलपमेंट आफ़ माइनॉरिटीज़ और उर्दू एकेडेमी की कारकर्दगी की सताइश की गई और उनकी सरगर्मियों में वुसअत देने का फ़ैसला किया गया। सी ई डी एम के ज़रिये तक़रीबन 100 अकलियती नौजवानों को सिविल सरविसीस इमतेहानात की ट्रेनिंग के लिए नामवर ख़ानगी इदारों में स्पांसर करने और सी ई डी एम के मंज़ूरा तीन मराकज़ के कड़पा, निज़ामबाद और चित्तूर में आग़ाज़ का फ़ैसला किया गया।

बताया जाता हैके अकलियती फाइनैंस कारपोरेशन की तरफ से सकीमात पर अमल आवरी की सुस्त रफ़्तार पर नाराज़गी का इज़हार करके 31दिसमबर तक मर्कज़ी हुकूमत स्कालरशिप सकीमात के निशाना को मुकम्मिल करने की हिदायत दी गई।

मर्कज़ी हुकूमत की पिरी मेट्रिक स्कालरशिप के तहत 2 लाख 47 हज़ार तलबा में अब तक एक लाख तलबा को स्कालरशिप दी गई जबकि पोस्ट मेट्रिक स्कालरशिप में सिर्फ़ 50 फ़ीसद तलबा को रक़म जारी की गई।

रियासती हुकूमत की पोस्ट मेट्रिक और पिरी मेट्रिक स्कालरशिप की इजराई के गोल की जल्द तकमील की हिदायत दी गई। बैंकों से मरबूत सब्सीडी की फ़राहमी स्कीम में कारपोरेशन का मुज़ाहरा नाक़िस रहा।

कारपोरेशन को 33 हज़ार इस्तेफ़ादा कुनुन्दगान को फी कस 30 हज़ार रुपये सब्सीडी की फ़राहमी का निशाना दिया गया था जिस में ताहाल 9% निशाना की तकमील की गई जबकि हुकूमत ने 50 करोड़ रुपये जारी करदिए हैं।

मीटिंग में फ़ैसला किया गया कि इस्तेफ़ादा कुनुन्दगान के इंतिख़ाब की ज़िम्मेदारी ज़िला कलक्टरस को दे कर निशाना के लिहाज़ से हर ज़िला को बजट जारी कर दिया जाये।

अकलियती इदारों के लिए मुख़तस बजट के ख़र्च में तसाहुल और अकलियती स्कीमात पर अमल आवरी ना होने से मुताल्लिक़ शिकायात के दरमयान वज़ीरे अकलियती बहबूद मुहम्मद अहमदुल्लाह ने आज महिकमा की कारकर्दगी का जायज़ा लिया। स्पेशल सेक्रेटरी अकलियती बहबूद सय्यद उमर जलील और कमिशनर अकलियती बहबूद शेख़ मुहम्मद इक़बाल की मौजूदगी में मुनाक़िदा मीटिंग में अक़लियती फाइनैंस कारपोरेशन, क्रिस्चियन फाइनैंस कारपोरेशन, वक़्फ़ बोर्ड और सर्वे कमिशनर वक़्फ़ की कारकर्दगी पर अदम इतमीनान का इज़हार किया गया।

ज़िम्मेदारों को हिदायत दी गई कि वो मुक़र्ररा मुद्दत के दौरान तमाम स्कीमात पर अमल-ओ-बजट के ख़र्च को यक़ीनी बनाईं। ओहदेदारों को हिदायत दी गई कि वो फ़लाही स्कीमात के टा की तकमील में संजीदगी का मुज़ाहरा करें वर्ना हुकूमत ओहदेदारों की तबदीली पर मजबूर होजाएगी।

मीटिंग में सेंटर फ़ार एजूकेशनल डेवलपमेंट आफ़ माइनॉरिटीज़ और उर्दू एकेडेमी की कारकर्दगी की सताइश की गई और उनकी सरगर्मीयों में वुसअत देने का फ़ैसला किया गया। सी ई डी एम के ज़रीये तक़रीबन 100 अकलियती नौजवानों को सिविल सरविसीस इमतेहानात की ट्रेनिंग के लिए नामवर ख़ानगी इदारों में स्पांसर करने और सी ई डी एम के मंज़ूरा तीन मराकज़ के कड़पा, निज़ामबाद और चित्तूर में आग़ाज़ का फ़ैसला किया गया।

बताया जाता हैके अकलियती फाइनैंस कारपोरेशन की तरफ से सकीमात पर अमल आवरी की सुस्त रफ़्तार पर नाराज़गी का इज़हार करके 31दिसमबर तक मर्कज़ी हुकूमत स्कालरशिप सकीमात के निशाना को मुकम्मिल करने की हिदायत दी गई।

मर्कज़ी हुकूमत की पिरी मेट्रिक स्कालरशिप के तहत 2 लाख 47 हज़ार तलबा में अब तक एक लाख तलबा को स्कालरशिप दी गई जबकि पोस्ट मेट्रिक स्कालरशिप में सिर्फ़ 50 फ़ीसद तलबा को रक़म जारी की गई।

रियास्ती हुकूमत की पोस्ट मेट्रिक और पिरी मेट्रिक स्कालरशिप की इजराई के निशाना की जल्द तकमील की हिदायत दी गई। बैंकों से मरबूत सब्सीडी की फ़राहमी स्कीम में कारपोरेशन का मुज़ाहरा नाक़िस रहा।

कारपोरेशन को 33 हज़ार इस्तेफ़ादा कुनुन्दगान को फी कस 30 हज़ार रुपये सब्सीडी की फ़राहमी का निशाना दिया गया था जिस में ताहाल 9% निशाना की तकमील की गई जबकि हुकूमत ने 50 करोड़ रुपये जारी करदिए हैं।

मीटिंग में फ़ैसला किया गया कि इस्तेफ़ादा कुनुन्दगान के इंतिख़ाब की ज़िम्मेदारी ज़िला कलक्टरस को दे कर निशाना के लिहाज़ से हर ज़िला को बजट जारी कर दिया जाये।

TOPPOPULARRECENT