Monday , December 11 2017

अक़लियती नौजवानों को बैंक क़र्ज़ के लिए सबसिडी स्कीम पर अमल आवरी

तेलंगाना हुकूमत ने जारीया साल अक़लियती बेरोज़गार नौजवानों को बैंकों के क़र्ज़ से मरबूत सब्सीडी की फ़राहमी स्कीम पर अमल आवरी को मंज़ूरी देदी है।

तेलंगाना हुकूमत ने जारीया साल अक़लियती बेरोज़गार नौजवानों को बैंकों के क़र्ज़ से मरबूत सब्सीडी की फ़राहमी स्कीम पर अमल आवरी को मंज़ूरी देदी है।

साल 2014-15 के लिए स्कीम पर अमल आवरी के सिलसिले में उम्र की हद में रियायत देने का फ़ैसला किया गया है और स्कीम से इस्तेफ़ादा के लिए दरख़ास्तों के इदख़ाल की आख़िरी तारीख़ 27 मार्च मुक़र्रर की गई है।

स्पेशल सेक्रेटरी अक़लियती बहबूद सय्यद उम्र जलील ने इस सिलसिले में जी ओ एम एस 15 जारी किया। हुकूमत ने इस स्कीम के लिए उम्र की हद को 21 ता 55 साल करने का फ़ैसला किया है जबकि साबिक़ में अहलीयत की उम्र की हद 21 ता 40 साल थी उस रियायत से बड़ी तादाद में अक़लियतें स्कीम से इस्तेफ़ादा करपाऐंगे। ख़ुद रोज़गार स्कीम के तहत सब्सीडी की फ़राहमी का काम अक़लियती फाइनैंस कारपोरेशन के ज़िम्मा दिया गया है।

जारीया साल स्कीम के रहनुमायाना ख़ुतूत की अदम इजराई के सबब दरख़ास्तों की वसूली का आग़ाज़ नहीं होसका था। जी ओ में कहा गया हैके दरख़ास्त गुज़ार ऑनलाइन दरख़ास्तें दाख़िल करसकते हैं। दरख़ास्तों के इदख़ाल के वक़्त दुसरे अस्नादात जैसे इनकम और रिहायशी सर्टीफ़िकेट के साथ आधार कार्ड को लाज़िमी क़रार दिया गया है।

ऑनलाइन दरख़ास्तें www.tsobmms.cgg.gov.inपर दाख़िल की जा सकती है। हुकूमत ने इस स्कीम के लिए 94 करोड़ रुपये जारी किए हैं। क्रिस्चन फाइनैंस कारपोरेशन के ज़रीये 10 करोड़ रुपये बतौर सब्सीडी जारी किए जाऐंगे जबकि अक़लियती फ़ीनानस कारपोरेशन 84 करोड़ रुपय जारी करेगा । आमदनी की हद शहरी इलाक़ों में सालाना 75 हज़ार और देही इलाक़ों मनी सालाना 60 हज़ार रुपय मुक़र्रर की गई है।

उम्मीदवारों को बैंक से 3 लाख रुपये तक क़र्ज़ जारी किया जाएगा जबकि फाइनैंस कारपोरेशन की सब्सीडी की हद एक लाख रुपये होगी। 2 लाख रुपये क़र्ज़ की सूरत में 50 फ़ीसद सब्सीडी के तौर पर एक लाख रुपये जारी किए जाऐंगे। दुसरे शराइत-ओ-ज़वाबत पिछ्ले साल की तरह बरक़रार रहेंगी। वाज़िह रहे के 2013-14 के मुंतख़ब उम्मीदवारों में सब्सीडी की इजराई का काम अक़लियती फाइनैंस कारपोरेशन की तरफ से जारी है और अभी तक 90 फ़ीसद उम्मीदवारों में सब्सीडी की रक़म जारी करदी गई। जबकि 10 फ़ीसद उम्मीदवारों में रक़म की इजराई का काम जारी है। बजट के जारीया साल इस्तेमाल को यक़ीनी बनाने के लिए हुकूमत ने स्कीम पर अमल आवरी का फ़ैसला किया है। मालीयाती साल का इख़तेताम 31 मार्च को होगा। मैनेजिंग डायरेक्टर अक़लियती फाइनैंस कारपोरेशन प्रोफेसर एसए शकूर ने अक़लियती तबक़ा के अफ़राद से अपील की के वो इस स्कीम से ज़्यादा से ज़्यादा इस्तेफ़ादा हासिल करें। मी सेवा सेंटरस पर भी दर्रावा सत्यं ऑनलाइन दाख़िल की जा सकती हैं।

TOPPOPULARRECENT