Monday , December 18 2017

अक़लियतों की ख़ुशहाली का बजट

रियासती वज़ीर अकलियती बहबूद मिस्टर मुहम्मद अहमद उल्लाह ने अकलियती बजट में 62 फीसद इज़ाफ़ा करते हुए उस को 489 करोड़ तक पहूँचाने का ख़ैर मक़दम क्या । इस को अक़लियतों की ख़ुशहाली का बजटक़रार दिया । ज़रूरत पड़ने पर मज़ीद बजट में इज़ाफ़

रियासती वज़ीर अकलियती बहबूद मिस्टर मुहम्मद अहमद उल्लाह ने अकलियती बजट में 62 फीसद इज़ाफ़ा करते हुए उस को 489 करोड़ तक पहूँचाने का ख़ैर मक़दम क्या । इस को अक़लियतों की ख़ुशहाली का बजटक़रार दिया । ज़रूरत पड़ने पर मज़ीद बजट में इज़ाफ़ा करने के लिए चीफ मिनिस्टर मिस्टर इन किरण कुमार रेड्डी से नुमाइंदगी करने का ऐलान किया । वज़ीर फाइनेन्समिस्टर ए राम नारायण रेड्डी की जानिब से बजट की पेशकशी के बाद असेंबली के अहाता में मौजूद मीडिया प्वाईंट पर सहाफ़ीयों से बात चीत करते हुए मिस्टर अहमद उल्लाह ने कहा कि आज का दिन अक़लियतों बिलख़सूस मुस्लमानों के लिए ख़ुशहाली का दिन है ।

अक़लियतों के हमदरद चीफ मिनिस्टर मिस्टर इन किरण कुमार रेड्डी ने अकलियती बजट में 62 फीसद इज़ाफ़ा करते हुए अक़लियतों की तरक़्क़ी और बहबूद के लिए संजीदा होने काअमली सबूत दिया है । यही नहीं बल्कि कमिश्नरेट के क़ियाम का भी ऐलान करते हुए बजट में गुंजाइश फ़राहम की गई है । अकलियती तलबा के फीस रीएम्ब्रेस्मेंट और स्कालर शपस की अदाएगी में ज़ाइद गुंजाइश फ़राहम की गई है । 2010-11 मैं अकलियती बजट 301 करोड़ था । 2012-13 मैं 188 करोड़ रुपये के बजट में इज़ाफ़ा करते हुए इस को 489 करोड़ कर दिया गया है । कांग्रेस पार्टी ही अक़लियतों की हमदरद जमात है जो मुस्लमानों कीतरक़्क़ी और बहबूद के लिए ठोस इक़दामात कररही है ।

मुस्लमानों की समाजी मआशीहालत को बेहतर बनाने केलिए रियासत में मुस्लमानों को वाअदे के मुताबिक़ तालीम और मुलाज़मतों में 4 फीसद तहफ़्फुज़ात फ़राहम किए जा रहे हैं जिस से कई गरीब मुस्लिम ख़ानदान इस्तिफ़ादा कररहे हैं । तमाम मुस्लिम तलबा को आला तालीम के तमाम मौक़ाफ़राहम किए जा रहे हैं । गरीब तलबा की मुकम्मल फीस अदा की जा रही है और बड़े पैमाने पर स्कालर शपस फ़राहम की जा रही है । 9 साल तक चीफ मिनिस्टर के ओहदे पर बरक़रार रहने वाले चंद्रा बाबू नायडू ने 2004 तक अकलियती बजट को सिर्फ 36 करोड़ तक महदूद रखा था कांग्रेस हुकूमत ने 8 साल में इस को बढ़ाकर 489 करोड़ रुपये कर दिया है ।।

TOPPOPULARRECENT