Monday , December 11 2017

अक़लियतों को 12 फ़ीसद रिजर्वेशन गोदावरी पर महाराष्ट्रा से समझौता छत्तीसगढ़ से बर्क़ी का हुसूल

हैदराबाद 16 अगस्त:तेलंगाना के चीफ़ मिनिस्टर चन्द्रशेखर राव‌ ने हैदराबाद के तारीख़ी क़िला गोलकोंडा पर 70 वीं यौम-ए-आज़ादी हिंद के मौके पर क़ौमी पर्चमकुशाई अंजाम दी।

इस मौके पर तेलंगाना अवाम से ख़िताब करते हुए उन्होंने दावा किया कि मुल्क की सबसे नई रियासत मर्कज़ और पड़ोसी रियासतों के साथ बेहतर ताल्लुक़ात बरक़रार रखते हुए पिछ्ले दो साल के दौरान कई शोबों में ग़ैरमामूली तरक़्क़ी की है।

खास्कर अवामी भलाई और तरक़्क़ी के शोबों में कई अहम संग-ए-मेल उबूर कर चुके हैं जिसकी बदौलत आज सारा मुल़्क तेलंगाना की तरफ़ देख रहा है। के चन्द्रशेखर राव‌ ने जो चीफ़ मिनिस्टर की हैसियत से तारीख़ी क़िला गोलकोंडा पर तीसरी मर्तबा क़ौमी पर्चम लहरा रहे थे अपनी तवील ख़िताब के दौरान तीन अहम पालिसी ऐलानात किए।

उन्होंने कहा कि हुकूमत तेलंगाना अक़लियतों और दर्ज फ़हरिस्त क़बाइल को बहुत जल्द उनकी आबादी के तनासुब के मुताबिक़12 फ़ीसद रिजर्वेशन फ़राहम करेगी। अंदरून चार माह तेलंगाना को छत्तीसगढ़ से 1000 मैगावाट बर्क़ी हासिल होगी नीज़ सबसे अहम एलान ये था कि बेन रियासती सरहदों के क़रीब गोदावरी ब्रिज की तामीर के लिए वो महाराष्ट्रा के चीफ़ मिनिस्टर देवेंद्र फडणवीस के साथ एक समझौता पर दस्तख़त करेंगे।

इस मौके पर चीफ़ मिनिस्टर तेलंगाना ने 23 अगस्त को अपने मुजव्वज़ा दौरा मुंबई का एलान भी किया। इस समझौता के तहत कालीशोरम प्रोजेक्ट की करीमनगर के मेदीगडडा में तामीर होगी। महाराष्ट्रा के दौरे में गोदावरी की मुआविन नदी पेन गंगा पर एक ब्रिज तामीर किया जाएगा।

केसीआर ने पाँच साल के दौरान एक लाख लोगों को मुलाज़मत देने के अह्द का इरादा करते हुए कहा कि 30,000 लोगों को पहले ही मुलाज़िमत फ़राहम की जा चुकी है।

चीफ़ मिनिस्टर केसीआर ने क़ौमी पर्चमकुशाई के बाद मार्च पास्ट करने वाले पुलिस दस्तों की सलामी ली। इस मौके पर तेलुगू फ़नकारों ने रंगारंग तहज़ीबी प्रोग्राम्स भी पेश किया।

चीफ़ मिनिस्टर ने कहा कि जब उन्होंने क़िला गोलकोंडा पर पहली मर्तबा क़ौमी पर्चम लहराया था उस वक़्त नई रियासत तेलंगाना की उम्र सिर्फ ढाई माह थी और नोमोलूद रियासत कई मसाइल से दो-चार थी लेकिन उनकी हुकूमत ने दो साल के दौरान इस रियासत को बेहतर इस्तिहकाम फ़राहम किया जिसके नतीजे में तेलंगाना ने अवामी भलाई और तरक़्क़ी के शोबों में ग़ैरमामूली तरक़्क़ी करती हुई सारे मुल्क के लिए एक मिसाल बन गई है।

उन्होंने कहा कि तरक़्क़ी के मैदान में तेलंगाना को मुल्क की पहली रियासत बनाने के मक़सद से हुकूमत तेलंगाना अपने तमाम तरक़्क़ीयाती प्रोग्रामों पर तेज़-रफ़्तार अमल आवरी को यक़ीनी बनाई है। उन्होंने कहा कि 36000 करोड़ रुपये की ख़तीर रक़ूमात से तरक़्क़ीयाती-ओ-फ़लाही प्रोजेक्ट शुरू किए गए। केसीआर ने गोदावरी प्रोजेक्ट की अदम-तकमील और पड़ोसी रियासतों के साथ मसाइल में इज़ाफे के लिए साबिक़ हुकूमतों को तन्क़ीद का निशाना बनाया। चीफ़ मिनिस्टर ने आबपाशी सेहत तालीम अमन-ओ-क़ानून और दुसरे कलीदी शोबों में चलाए जानेवाले मुख़्तलिफ़ प्रोग्रामों का तज़किरा किया और कहा कि उनकी हुकूमत सेहत-ओ-तालीम को यकसाँ एहमीयत दे रही है।

उन्होंने कहा कि उनकी हुकूमत एनआईए और दुसरे सेक्यूरिटी इदारों से रब्त-ओ-तआवुन के ज़रीये तमाम समाज दुश्मन अनासिर को आहनी शिकंजा से कुचल देगी। उन्होंने छोटे और मुतवस्सित किसानों के लिए 100फ़ीसद सब्सीडी का एलान भी किया।

 

TOPPOPULARRECENT