Monday , September 24 2018

अक़लीयती इदाराजात में मुलाज़मीन की हाज़िरी के लिए बायो मैट्रिक सिस्टम

हुकूमत अक़लीयती इदारों में मुलाज़मीन की कारकर्दगी बेहतर बनाने और बाक़ायदा हाज़िरी को यक़ीनी बनाने के लिए तमाम दफ़ातिर में असरी बायो मैट्रिक हाज़िरी सिस्टम मुतआरिफ़ करने का मंसूबा रखती है।

हुकूमत अक़लीयती इदारों में मुलाज़मीन की कारकर्दगी बेहतर बनाने और बाक़ायदा हाज़िरी को यक़ीनी बनाने के लिए तमाम दफ़ातिर में असरी बायो मैट्रिक हाज़िरी सिस्टम मुतआरिफ़ करने का मंसूबा रखती है।

वक़्फ़ बोर्ड में इस सिस्टम पर कामयाबी से अमल आवरी के बाद हुकूमत ने दीगर अक़लीयती इदारों में भी इस तरह को तौसीअ देने का मंसूबा बनाया है। बावसूक़ ज़राए के मुताबिक़ वक़्फ़ बोर्ड में बायो मैट्रिक हाज़िरी निज़ाम मुतआरिफ़ किए जाने के बाद से मुलाज़मीन और ओहदेदारों की मुक़र्ररा वक़्त पर हाज़िरी देखी जा रही है।

इस सिस्टम के तहत मुक़र्ररा वक़्त के 15 मिनट बाद मशीन को बंद कर दिया जाता है और इस के बाद आने वाले का ताख़ीर से आने वालों में शुमार होता है। मुलाज़मीन को आमद और रवानगी के मौक़ा पर अपने फिंगर प्रिंट के ज़रीए हाज़िरी दर्ज करानी होती है।

अक़लीयती इदारों में ओहदेदारों और मुलाज़मीन की नशिस्तों पर अदम दस्तयाबी की शिकायत आम है, उसे देखते हुए हुकूमत ने इस असरी सिस्टम को मुतआरिफ़ करने का फैसला किया।

हुकूमत वक़्फ़ बोर्ड में मुस्तक़िल तौर पर चीफ एग्ज़ीक्यूटिव ऑफ़िसर के तक़र्रुर के लिए बहुत जल्द अहकामात जारी कर देगी। बताया जाता है कि इस ओहदा के लिए रेवन्यू डिपार्टमैंट के एक ओहदेदार की निशानदेही की गई है और इस ओहदेदार ने वक़्फ़ बोर्ड में ख़िदमात अंजाम देने से इत्तिफ़ाक़ कर लिया।

TOPPOPULARRECENT