Sunday , January 21 2018

अक़लीयती तालीमी इदारों को दर्पेश मसाइल के लिए मर्कज़ी हुकूमत से हुसूले तआवुन का फ़ैसला

रियासती अक़लीयती कमीशन का इजलास आज सदर नशीन आबिद रसूल ख़ान की सदारत में मुनाक़िद हुआ। इजलास में अक़लीयती कमीशन को हालिया अर्सा में मुख़्तलिफ़ शिकायात का जायज़ा लिया गया जिस में ज़िला निज़ामाबाद में पुलिस तहवील में शेख़ हैदर नामी शख़्स की मौत, रंगा रेड्डी के परगी में सब इन्सपैक्टर पुलिस की मुबैयना हिरासानी के सबब रहीमा बेनामी ख़ातून की ख़ुदकुशी, अक़लीयती तबक़ा के अफ़राद के ख़िलाफ़ रूडीशेट खोल कर नोटिस बोर्ड पर उन के नामों को रखने की शिकायत, उस्मानिया जेनरल हॉस्पिटल में कुत्तों की कसरत के सबब मरीज़ों को मुश्किलात जैसे मसाइल शामिल हैं।

कमीशन ने अक़लीयती तालीमी इदारों को दर्पेश मसाइल और उन के हल, तालीम को असरी बनाने के लिए मर्कज़ी हुकूमत से तआवुन जैसे मसला पर एक रोज़ा सेमीनार के इनेक़ाद का फ़ैसला किया है।

इस सेमीनार में क़ौमी अक़लीयती कमीशन, मर्कज़ी वज़ारत अक़लीयती उमूर के ओहदेदारों को मदऊ किया जाएगा। इस के इलावा शोबा तालीम से वाबिस्ता माहिरीन भी मदऊ रहेंगे।

सेमीनार की तारीख़ का अनक़रीब ऐलान किया जाएगा। सरदार सुरजीत सिंह की सिफ़ारिश पर कमीशन ने हैदराबाद और रंगा रेड्डी में सिख तबक़ा के क़ब्रिस्तान के लिए अराज़ी अलाटमैंट की सिफ़ारिश की है।

TOPPOPULARRECENT