Monday , December 18 2017

अक़वामे मुत्तहिदा असलहा मुआहिदा मुज़ाकरात के आगाज में रुकावटें

अक़वामे मुत्तहिदा 19 मार्च (ए एफ़ पी ) अक़वामे मुत्तहिदा की जानिब से रिवायती हथियारों की फरोख्त पर निगरानी के मुआहिदे के मुज़ाकरात का अहया हुआ हालाँकि दुनिया के बाअज़ अहम ममालिक की जानिब से इस में रुकावटें पैदा की जा रही है ।

अक़वामे मुत्तहिदा 19 मार्च (ए एफ़ पी ) अक़वामे मुत्तहिदा की जानिब से रिवायती हथियारों की फरोख्त पर निगरानी के मुआहिदे के मुज़ाकरात का अहया हुआ हालाँकि दुनिया के बाअज़ अहम ममालिक की जानिब से इस में रुकावटें पैदा की जा रही है ।

जुलाई में चार हफ़्ते तक बात-चीत के नाकाम हो जाने के बाद आलमी इदारे के 193 अरकान दुबारा मुआहिदे की कोशिश करेंगे और इन ममालिक पर दबाव डालेंगे जिन तक उन की रसाई है कि हथियारों की फरोख्त से पहले इस बात का त्यक्कुन हासिल किया जाए कि,

उन्हें इंसानी हुक़ूक़ की ख़िलाफ़वर्जियों दहश्तगर्दी या मुनज़्ज़म जराइम के लिए इस्तिमाल नहीं किया जाएगा लेकिन वसीअ पैमाने पर रुकावटों का ख़तरा मंडला रहा है क्योंकि हथियार फराहम करने वाले और उन्हें ख़रीदने वाले बड़े ममालिक फरोख्त की शराइत के ख़िलाफ़ हैं और वो मुआहिदे की पूरी ज़मुराबंदी हज़फ़ करने के ख़ाहां हैं।

TOPPOPULARRECENT