Friday , December 15 2017

अक़वाम-ए-मुत्तहिदा सलामती कौंसल का हंगामी इजलास , तशद्दुद रोकने की ख़ाहिश

अक़वाम-ए-मुत्तहिदा (UN), १६ नवंबर (पीटीआई) अक़वाम-ए-मुत्तहिदा सलामती कौंसल ने ग़ाज़ा पर इसराईल के तबाहकुन हमलों का जायज़ा लेने के मक़सद से हंगामी इजलास मुनाक़िद किया। हिंदूस्तान ने तवक़्क़ो ज़ाहिर की कि इसराईल और फ़लस्तीन कौंसल के पयाम की

अक़वाम-ए-मुत्तहिदा (UN), १६ नवंबर (पीटीआई) अक़वाम-ए-मुत्तहिदा सलामती कौंसल ने ग़ाज़ा पर इसराईल के तबाहकुन हमलों का जायज़ा लेने के मक़सद से हंगामी इजलास मुनाक़िद किया। हिंदूस्तान ने तवक़्क़ो ज़ाहिर की कि इसराईल और फ़लस्तीन कौंसल के पयाम की तामील ( पूर्ती) करेंगे कि दोनों को सब्र-ओ-तहम्मुल का मुज़ाहरा करते हुए तशद्दुद रोकना चाहीए।

कल रात बंद कमरे में हंगामी इजलास तक़रीबन ड्ह्.ढ़ेढ़ घंटा जारी रहा। बादअज़ां अक़वाम-ए-मुत्तहिदा ने हिंदूस्तान के मुस्तक़िल नुमाइंदा हरदीप सिंह पूरी ने ज़राए इबलाग़ के नुमाइंदों से बातचीत करते हुए कहा कि इस इजलास में सूरत-ए-हाल को कम करने के लिए ज़रूरी इक़दामात ( कार्यनिष्पादन) के बारे में तबादला-ए-ख़्याल किया गया।

इजलास ने ये तवक़्क़ो ज़ाहिर की कि फ़रीक़ैन (दोनो दल) सब्र-ओ-तहम्मुल का मुज़ाहरा करेंगे ताकि हालात मज़ीद अबतर ना होने पाए। हरदीप सिंह ने कहा कि इजलास के इस पयाम को तस्लीम करते हुए तशद्दुद फ़ौरी रोका जाना चाहीए। हरदीप सिंह पूरी जो सलामती कौंसल के सदर भी हैं, उन्होंने कहा कि इजलास में शुरका (शरीक हुए लोगो) की राय यही थी कि तशद्दुद को फ़ौरी तौर पर रोका जाए।

उन्होंने बहैसीयत सदर कौंसल, मीडीया से ख़िताब करते हुए कहा कि इसराईली हमलों पर कोई तब्सिरा नहीं किया ताहम कौंसल के अरकान ने सिर्फ़ बयान जारी करने से इत्तिफ़ाक़ किया । उन्होंने कहा कि सलामती कौंसल बोहरान ( संकट) पर मुसलसल नज़र रखेगी।

इस दौरान अक़वाम-ए-मुत्तहिदा जनरल सेक्रेटरी बांन की मून ने वज़ीर-ए-आज़म इसराईल बिंजा मन नितिन याहू पर ज़ोर दिया है कि ग़ाज़ा पर हमलों का सिलसिला रोके और कशीदगी कम करे। बांन की मून ने सदर मिस्र मुहम्मद मर्सी से भी बोहरान पर तबादला-ए-ख़्याल किया।

अक़वाम-ए-मुत्तहिदा के तर्जुमान ने बताया कि सेक्रेटरी जनरल ने कल नितिन याहू और मुहम्मद मर्सी से फ़ोन पर रब्त क़ायम किया। इसराईली जंगी तय्यारों ( विमानो) के हमले में कल हम्मास के फ़ौजी कमांडर की हलाकत के बाद उन्होंने सूरत-ए-हाल मज़ीद अबतर होने के अंदेशे के तहत दोनों क़ाइदीन से रब्त क़ायम किया।

मिस्र ने कहा कि इन हमलों के ख़िलाफ़ बतौर-ए-एहतिजाज वो अपने सफ़ीर ( दूत) को वापस तलब कर रहा है। बांन की मून ने ग़ाज़ा से राकेट फ़ायर हमले और इसराईल के फ़िज़ाई हमलों के नतीजे में कशीदगी में बेहद इज़ाफ़ा पर तशवीश का इज़हार किया है।

TOPPOPULARRECENT