अकेली मुस्लिम परिवार के लिए एक हुआ पुरा गांव, बेटी की शादी में की मदद

अकेली मुस्लिम परिवार के लिए एक हुआ पुरा गांव, बेटी की शादी में की मदद

शहर से कुछ दूर स्थित रतलाम जनपद पंचायत की ग्राम पंचायत हतनारा में ग्रामीणों ने हिंदू-मुस्लिम एकता का अनूठा परिचय दिया है। यहां गांव में रहने वाले एकमात्र मुस्लिम परिवार के घर में कुछ दिनों पहले लगी आग में उसका घर, सामान सहित सपने भी जल गए थे।

कुछ दिनों बाद पीडि़त परिवार की बेटी का निकाह है, एेसे में हिम्मत हार चुके परिवार और गांव की बेटी के निकाह के लिए अब पूरा गांव जुट गया है। गांव की बेटी का निकाह कराने के लिए लोग हर घर के साथ ही आस-पास के गांव से भी चंदा एकत्रित करने में जुटे हुए है।

हतनारा गांव में एक ही मुस्लिम परिवार है, जो कि शहजाद मंसूरी का है। शहजाद घर पर रजाई-गादी बनाने का काम करके गुजारा करता है। बीती 15 फरवरी को उसके घर में आग लग गई थी।

आग की सूचना ग्रामीणों ने फायर बिग्रेड को सूचना देने के साथ ही उसके आने के पहले ग्रामीणों ने अपने घरों से पानी लाकर आग पर काबू तो पाया, लेकिन आग बुझने तक घर में रखा अधिकांश सामान पूरी तरह से जलकर खाक हो चुका था।

इस आग में शहजाद के घर के साथ उसके रोजगार में काम आने वाली मशीन और बेटी के निकाह का सपना भी जलकर खाक हो गया था।

Top Stories