Saturday , August 18 2018

अक्टूबर में ये सर्दी! तो दिसमबर में क्या होगा?

बहरे अरब में तूफ़ान नीलोफ़र और ख़लीज बंगाल में हवा के दबाव के आलावा शुमाल से चलने वाली तूफ़ानी हवाओं के असर से आंध्र प्रदेश और तेलंगाना का मौसम तेज़ी से सर्द हो रहा है।

बहरे अरब में तूफ़ान नीलोफ़र और ख़लीज बंगाल में हवा के दबाव के आलावा शुमाल से चलने वाली तूफ़ानी हवाओं के असर से आंध्र प्रदेश और तेलंगाना का मौसम तेज़ी से सर्द हो रहा है।

आदिलाबाद तेलंगाना का सर्द तरीन मुक़ाम रहा जहां दर्जा हरारत 13.7 रिकार्ड किया गया। शहरे हैदराबाद में भी बिलख़सूस शाम से रात के पिछले पहर तक हवाओं के साथ शदीद सर्दी महसूस की जा रही है और शहर का दर्जा हरारत 16 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया जो मामूल से ओस्ता दो डिग्री कम है।

आंध्र प्रदेश में ज़िला विशाखापटनम के रीजनसी इलाके में ज़बरदस्त सर्दी की लहर जारी है। एजेंसी के चिंतापली इलाके तेलंगाना और आंध्र प्रदेश दोनों ही रियासतों का सर्द तरीन मुक़ाम रहा।

जहां का दर्जा हरारत 10 डिग्री सेल्सियस रहा। दोनों रियासतों में एसा सर्द मौसम बिलउमूम दिसमबर में रहता है लेकिन इस मर्तबा शुमाल मशरिक़ी मानसून के ज़रीये मौसमे सर्मा की पेशक़दमी और दुसरे माहौलियाती हालात इस सर्दी के अहम अस्बाब हैं।

साहिली आंध्र प्रदेश में तूफ़ान हुद हुद के बाद मौसम अचानक सर्द होगया है जबकि तेलंगाना में शुमाल मशरिक़ी मानसून के असर से ये सर्दी पैदा हुई है।

हालाँकि एसी सर्दी बिलउमूम माह दिसमबर में रिकार्ड की जाती है लेकिन अवाख़िर दिसमबर में सर्दी की ये लहर देखते हुए हिंदुस्तानी महकमा-ए-मौसीमीयत के साईंसदाँ के सीताराम ने इस क़ियास का इज़हार कहा कि दिसमबर के दौरान हैदराबाद में अक़ल्ल तरीन दर्जा हरारत 8 डिग्री सेल्सियस तक घट सकती है।

दिसमबर 1996 के दौरान हैदराबाद में 7.1 अक़ल्ल तरीन दर्जा हरारत रिकार्ड किया गया था जो दर्ज शूदा मौसमियाती तारीख़ में अब तक का सर्द तरीन दिन था। शहर के दर्जा हरारत में अचानक ज़बरदस्त कमी के सबब बेघर मर्द-ओ-ख़वातीन जो सड़कों के किनारे ज़िंदगी बसर करते हैं, रात के वक़्त सर्द लहर को बर्दाश्त ना करते हुए आग जलाकर गर्मी हासिल करते देखे गए।

TOPPOPULARRECENT