Friday , November 24 2017
Home / India / अख्लाक हत्याकांड के आरोपी की मौत ,अख्लाक के भाई की गिरफ्तारी के लिए गांव में लगी पंचायत

अख्लाक हत्याकांड के आरोपी की मौत ,अख्लाक के भाई की गिरफ्तारी के लिए गांव में लगी पंचायत

दादरी। अख्लाक हत्याकांड के आरोपी युवक रविन उर्फ रोबिन की मंगलवार की शाम दिल्ली के लोक नायक जयप्रकाश अस्पताल में मौत हो गई। इसके बाद से ही बिसाहड़ा गांव के माहोल में तनाव है। गांववालों का आरोप है कि रविन और उसके साथ तीन और आरोपियों की जेल की पिटाई की गई है जिससे उसकी मौत हो गई। बिसाहड़ा गांव वाले पंचायत करके घोषणा की है जेलर और अख्लाक के भाई गौ हत्या के आरोपी जान मोहम्मद की गिरफ्तारी तक शव का अंतिम संस्कार नहीं करेंगे। फिलहाल शव अस्पताल में ही है। प्रशासन ने हालात को देखते हुए भारी फोर्स वहां तैनात कर दी है। गांव छावनी में तब्दील हो गया है।

अख्लाक के गांव बिसाहड़ा में ढेर रात से फैला है तनाव

गांव की महिलाएं अखलाक के भाई जान मोहम्मद की गिरफ्तारी की मांग करते हुए आमरण अनशन पर बैठी हैं। मंगलवार को अनशन पर बैठी कई महिलाओं की तबियत बिगड़ गई। बता दे गांव वाले अदालत के आदेश पर रिपोर्ट दर्ज कराने के बाद से ही अखलाक के भाई की गिरफ्तारी का दबाव बना रहे हैं।

वहीं सांम्प्रदायिक हिंसा की आशंका को देखते हुए प्रशासन ने गांव में में देर रात भारी फ़ोर्स तैनात कर दिया गया है। गांव जेल से छूटकर आए एक आरोपी युवक का वीडियो बिसाहड़ा गांव में सोशल मीडिया के जरिये खूब देखा जा रहा है। इस वीडियो में वह बता रहा है कि जेलर ने रविन के साथ मारपीट की थी।

प्रशासन हालात संभालने में जुटा

इस मामले में गौतम बुद्ध नगर के डीएम एनपी सिंह ने कहा कि आरोपी की मौत की जानकारी हमें 6.30 से 7 बजे के करीब मिली। रविन की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट, मेडिकल हिस्ट्री और टेस्ट रिपोर्ट्स अभी एलएनजेपी अस्पताल से नहीं आई हैं, उनका इंतजार किया जा रहा है। जेल प्रशासन का कहना है कि रविन फेफड़े के इन्फेंक्शन से पीड़ित था लेकिन पूरी रिपोर्ट आने के बाद ही इस बारे में कुछ बताया जा सकेगा।

दूसरी ओर जिला प्रशासन हालात सम्भालने में जुटा है। जिलाधिकारी एनपी सिंह बुधवार की सुबह छह बजे दिल्ली एलएनजेपी अस्पताल पहुंचे। रविन के पिता और भाई से मुलाकात की। अफ़सोस जताया।

क्या है पूरा मामला
अखलाक हत्याकांड के 16 आरोपी लुकसर जिला जेल में बंद हैं। जेल अधीक्षक एमएल यादव ने बताया वर्षीय 23 रविन पुत्र रणवीर सिंह को 29 सितंबर को पेट दर्द हुआ था। उसे जेल के डॉक्टरों ने दवाई दी। जब आराम नहीं हुआ तो सोमवार को नोएडा के जिला अस्पताल में भर्ती किया गया। अल्ट्रासाउंड रिपोर्ट आई कि उसके फेंफड़ों में पानी है। उसे डॉक्टरों ने वापस जेल भेज दिया। मंगलवार की सुबह उसकी हालत बिगड़ती चली गई। उसे फिर जिला अस्पताल ले जाया गया। जिला अस्पताल से दिल्ली के एलएनजेपी अस्पताल रेफर कर दिया गया। जहां देर शाम उसकी मौत हो गई। रविन के पिता और भाई मंगलवार को दिल्ली साथ गए थे।

TOPPOPULARRECENT