Friday , December 15 2017

अगर बगदादी मिल जाए तो इसलाम के दुश्मन को सौ टुकड़े कर देंगे- ओवैसी

हैदराबाद। अपने बयानों के कारण विवादों में रहने वाले ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलिमीन (AIMIM) चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने इस्लामिक स्टेट को जमकर आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा कि आईएस इस्लाम विरोधी ताकतों का उपकरण है। ओवैसी ने शुक्रवार को मुस्लिम युवाओं से अपील की कि वे इस्लाम और मानवता के लिए जिंदा रहें। उन्होंने कहा, ‘इस्लाम के लिए मरें नहीं बल्कि मानवता के लिए जिंदा रहें। यह हमारा मुल्क है इसलिए मिलकर रहना चाहिए।

AIMIM चीफ एक बड़ी पब्लिक मीटिंग को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने मुस्लिम युवाओं से आग्रह किया कि वे इस्लामिक स्टेट के चंगुल में फंसने से बचें। ओवैसी ने कहा, ‘पैगंबर की मस्जिद के सामने आईएस का हमला इस्लाम के दुश्मनों का है। इस्लामिक स्टेट इस्लाम को बर्बाद करने पर तुला है। इसके लड़ाके जहन्नुम के कुत्ते हैं।’

ओवैसी ने कहा कि मदीना में हमला करने वाले लोग इस्लाम के दुश्मन हैं। जिन लोगों ने रोजा नहीं रखा, उन्हें रक्का में कत्ल किया गया। ऐसे लोग को काट देना चाहिए। उन्होंने कहा कि ‘मैं ऐलान करता हूं कि अगर अबू बकर अल बगदादी मिल गया तो उसके टुकड़े-टुकड़े कर दिए जाएंगे।’ इसके साथ ही ओवैसी ने अपील की है कि मुसलमान हथियार नहीं उठाओ। जिहाद करना है तो हथियार न उठाओ। गरीबों को बढ़ाओ, गरीब बच्चियों की शादी कराओ यही जिहाद है। गौरतलब है कि इससे पहले भी IS पर दिए बयान के कारण ओवैसी को कथित रूप से धमकी मिली थी।

इस मीटिंग में एक सर्वसम्मति से एक प्रस्ताव पास किया गया। प्रस्ताव में इस्लामिक स्टेट की कड़ी निंदा की गई। मीटिंग में आईएस की निंदा करते हुए कहा गया कि उसने पवित्र रमजान महीने में भी बेगुनाहों की हत्या कर इस्लाम को बदनाम किया है। प्रस्ताव में कहा गया है, ‘आईएस इस्लाम के लिए कुछ नहीं कर रहा है बल्कि उसकी गतिविधियों से इस्लाम की जड़ें कमजोर हो रही हैं। आईएसआईएस न केवल गैरइस्लामिक है बल्कि यह जो पश्चिम ताकतें इस्लाम के दुश्मन हैं उनके हाथों का टूल बन गया है। ये इस्लाम की आड़ में उसे बदनाम कर रहे हैं।’
ओवैसी ने आईएस को निशाने पर लेते हुए कहा, ‘रमजान में बगदाद, इस्तांबुल, ढाका समेत दुनिया के कई हिस्सों में आईएस ने मुस्लिम, गैरमुस्लिम समेत 300 बेगुनाहों की जान ली। ये इस्लाम को तबाह करना चाहते हैं।

TOPPOPULARRECENT