Sunday , December 17 2017

अगुस्टा मामला: ED का दावा, सभी घुसखोरों की जानकारी हमारे पास

नई दिल्ली। प्रवर्तन निदेशालय (ED) का दावा है कि उसने अगुस्टा डील में फायदा लेने वाले राजनेताओं, नौकरशाहों, भारतीय वायु सेना (IAF) के अधिकारियों व अन्य लोगों की पहचान कर ली है। राजनैतिक रूप से बेहद संवेदनशील माने जा रहे इस मामले में ED के बयान से नया मोड़ आ सकता है।

ED में हमारे एक वरिष्ठ सूत्र ने बताया, ‘पैसे के पूरे लेनदेन का हमने पता लगा लिया है। हम जान चुके हैं कि यह पैसा भारत में कहां-कहां गया।’ सूत्र ने बताया कि अब जांचकर्ता इन शुरुआती तथ्यों को साबित करने के लिए सबूतों की तलाश कर रहे हैं।

सूत्र ने हालांकि यह नहीं बताया कि क्या ED की जांच के नतीजे मिलान की अदालत द्वारा दिए गए फैसले के साथ मेल खाते हैं। मालूम हो कि मिलान की अदालत ने पुष्टि की थी कि 12 हेलिकॉप्टरों के इस सौदे को हासिल करने के लिए कुछ भारतीयों को रिश्वत दी गई थी। सूत्र ने यह जरूर कहा कि इतनी जल्द किसी को भी क्लीन चिट देना सही नहीं होगा।

ED अब इस मामले में तत्कालीन वायुसेना प्रमुख एस.पी. त्यागी को पूछताछ के लिए तलब करने वाली है। ED के सूत्रों ने बताया कि अगुस्टा वेस्टलैंड के जिन यूरोपीय बिचौलियों ने इस सौदे को कंपनी को दिलाने की कोशिश की, उसपर दिल्ली के वकील गौतम खेतान के माध्यम से रिश्वत बांटने का आरोप है।

ED द्वारा दाखिल की गई चार्जशीट में आरोप लगाया गया है कि खेतान के ही माध्यम से बिचौलियों ने भारत में संबंधित लोगों को रिश्वत बांटा। हमने फोन पर खेतान से बात करने की कोशिश की, लेकिन उन्होंने बात करने से इनकार कर दिया। उन्हें भेजे गए SMS का भी कोई जवाब नहीं आया।

TOPPOPULARRECENT