अजमेर दरगाह के दीवान ने अमरनाथ हमले की निंदा की, कहा- ‘आतंकवाद के खिलाफ देश एकजुट है’

अजमेर दरगाह के दीवान ने अमरनाथ हमले की निंदा की, कहा- ‘आतंकवाद के खिलाफ देश एकजुट है’
Click for full image

अजमेर। विभिन्न संगठनों, जनप्रतिनिधियों और शहरवासियों ने अमरनाथ तीर्थयात्रियों पर हुए हमले की निंदा की है। गरीब नवाज सूफी मशन सोसायटी के अध्यक्ष शेखजादा जुल्फिकार चिश्ती, उपाध्यक्ष सैयद आले हुसैन, हाजी सरवर सिद्दिकी, उस्मान घडिय़ाली और अन्य ने बताया कि अमरनाथ यात्रियों के जत्थे पर हमला कायराना है।

केंद्र और जम्मू कश्मीर सरकार को अमरनाथ यात्रियों की सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध करने चाहिए। इस दौरान मृतकों को श्रद्धांजलि दी गई। इसी तरह अंजुमन यादगार चिश्तिया शेखजादगान के अध्यक्ष एस. अब्दुल जर्रार चिश्ती, सचिव डॉ. अब्दुल माजिद चिश्ती ने हमले की निंदा करते हुए आतंकी घटनाएं रोकने के लिए पुख्ता बंदोबस्त की मांग की।

खादिम एस. एस. हसन चिश्ती ने कहा कि आतंकवाद के खिलाफ देश एकजुट है। सरकार को आतंकियों को मुंह तोड़ जवाब देना चाहिए।
बेगुनाहों को मारना आतंकियों की कायरता

ख्वाजा मोइनुद्दीन हसन चिश्ती की दरगाह के दीवान दीवान सैयद जैनुल आबेदीन अली खान ने अमरनाथ यात्रियों पर हुए आतंकी हमले की कड़ी निंदा की है। उन्होंने कहा कि इस हमले से कश्मीर का सिर शर्म से झुक गया है। मुस्लिम समुदाय और कश्मीरी युवाओं को आतंकवाद पर पाकिस्तान के खिलाफ आवाज बुलंद करनी चाहिए।

इस्लाम में खून खराबे और निर्दोष लोगों की हत्या करना शरीयत और इंसानियत के खिलाफ है। आतंकियों और आतंकवादी संगठनों को करारा जवाब देने की जरूरत है।

दीवान ने कहा कि आतंकी घटना को किसी धार्मिक समूह या धार्मिक वर्ग से जोड़कर नहीं देखना चाहिए। संकट की स्थिति में सभी धर्मों के लोगों को एकजुटता दिखाने की आवश्यकता है। आतंकी घटनाओं को इस्लामिक या हिंदू आतंकवाद का नाम लेना सरासर गलत है।

Top Stories