Monday , December 18 2017

अजमेर धमाकों का मुल्ज़िम रमेश गोहिल गुजरात में गिरफ़्तार

हैदराबाद 09 मई: मुल्क भर के हिन्दु दहश्तगर्द हमलों की तहक़ीक़ात कररही नेशनल इन्वेस्टीगेशन एजेंसी (एन आई ए) को एक अहम कामयाबी हाथ लगी है।

हैदराबाद 09 मई: मुल्क भर के हिन्दु दहश्तगर्द हमलों की तहक़ीक़ात कररही नेशनल इन्वेस्टीगेशन एजेंसी (एन आई ए) को एक अहम कामयाबी हाथ लगी है।

एन आई ए ने दरगाह अजमेर शरीफ़ बम धमाके में शामिल अहम मुल्ज़िम रमेश गोहिल उर्फ़ मोहन को गुजरात से गिरफ़्तार करलिया है। 11 अक्टूबर 2007 में अहाता दरगाह हज़रत ख़्वाजा मुईन उद्दिन अजमेर में इफ़तार के वक़्त ज़बरदस्त धमाका हुआ था जिस में तीन अफ़राद हैदराबाद के मुहम्मद सलीम हलाक होगए थे।

17 ज़ख़मी होगए थे। सरकारी ज़राए ने बताया कि अजमेर शरीफ़ बम धमाके केस में कई आर एस एस कारकुनों ने हिस्सा लिया था लेकिन बरूडा गुजरात के रमेश गोहिल उर्फ़ मोहन उर्फ़ रैनकू उर्फ़ घनश्याम ने अहम रोल अदा किया था।

एन आई ए ने इस मुल्ज़िम के सर पर 5 लाख रुपये नक़द रक़म का भी एलान किया था। रमेश गोहिल की गिरफ़्तारी एन आई ए के लिए एक अहम कामयाबी है।

राजिस्थान एंटी टियर रेस्ट स्क्वाड ने इस धमाका में शामिल अफ़राद को गिरफ़्तार करते हुए हिन्दु दहश्तगरदों की साज़िश को बेनकाब किया था जबके इस केस की तहक़ीक़ात को एन आई ए के हवाले कर दिया गया था।

एन आई ए की दिल्ली यूनिट ने इस सिलसिले में केस नंबर RC-04/2011/NIA-DLI के तहत एक मुक़द्दमा दर्ज किया था और इस सिलसिले में चार्ज शीट भी दाख़िल की गई।

TOPPOPULARRECENT