Thursday , November 23 2017
Home / India / अजीत पवार की बरसर-ए-आम कांग्रेस पर तन्क़ीद

अजीत पवार की बरसर-ए-आम कांग्रेस पर तन्क़ीद

महाराष्ट्रा में एन सी पी की हलीफ़ कांग्रेस पर दरपर्दा तन्क़ीद करते हुए इन सी पी क़ाइद अजीत पवार ने आज कहा कि उन पर जो बे क़ाईदगियों के इल्ज़ामात(आरोप) आइद किए गए हैं, इन का मक़सद मख़लूत हुकूमत के अस्क़ामस की तरफ़ से अवाम की ध्यान हटाना ह

महाराष्ट्रा में एन सी पी की हलीफ़ कांग्रेस पर दरपर्दा तन्क़ीद करते हुए इन सी पी क़ाइद अजीत पवार ने आज कहा कि उन पर जो बे क़ाईदगियों के इल्ज़ामात(आरोप) आइद किए गए हैं, इन का मक़सद मख़लूत हुकूमत के अस्क़ामस की तरफ़ से अवाम की ध्यान हटाना है। उन्हों ने कहा कि हम पर कोयला पोत कर हमें काला करने की कोशिश की जा रही है।

हालाँकि उन्हों ने कांग्रेस का नाम नहीं लिया, लेकिन इस हक़ीक़त से कोई इनकार नहीं कर सकता कि इन की तक़रीर सीधे तौर पर मख़लूत हुकूमत(गठबंधन सरकार) की से नर शराकतदार(वरिष्ठ भागीदार) पार्टी कांग्रेस की तरफ‌ था। वो अकोला में अपने इस्तीफे के बाद पहले जल्सा-ए-आम से ख़िताब(जनसभा को संबोधित ) कररहे थे। उन्हों ने कहा कि एन सी पी की शबेहा मसख़ करने केलिए साज़िश तय्यार की गई है, लेकिन जब तक अवाम एन सी पी के साथ हैं, ख़ौफ़ की कोई वजह नहीं है। किसी ने भी इस्तीफ़ा तलब(मांग) नहीं किया था, मैं आज खु़द मुस्ताफा हो गया हूँ।

कोडनकुलम प्लांट का तहफ़्फ़ुज़(सुरक्षा) अदालत को मुतमइन(संतुष्ट) करने हुकूमत का अज़म(संकल्प)
मर्कज़ी हुकूमत कोडनकुलम न्यूकलीयर पावर प्लांट और इस के करीब रहने वाले अफ़राद(लोगो) के तहफ़्फ़ुज़ के ताल्लुक़(सुरक्षा के संबंध) से सुप्रीम कोर्ट को मुतमइन(संतुष्ट) करेगी । मर्कज़ी वज़ीर(केंद्रीय मंत्री) मिस्टर वे नारायण सामी ने ये बात बताई ।

उन्हों ने अख़बारी नुमाइंदों से बात चीत करते हुए कहा कि हुकूमत की तरफ‌ से अदालत में 4 सितंबर को जवाब दाख़िल किया जाएगा । हम अदालत को मुतमइन(संतुष्ट) करेंगे और हुकूमत की तरफ‌ से प्लांट और अतराफ़ के अवाम के तहफ़्फ़ुज़(सुरक्षा) केलिए किए जाने वाले इक़दामात(उपायों) से वाक़िफ़(अवगत) करवाएंगे ।

अदालत ने 27 सितंबर को कहा था कि अगर न्यूकलीयर पावर प्लांट के तहफ़्फ़ुज़(सुरक्षा) केलिए दरकार और ज़रूरी इक़दामात(उपायों) नहीं किए गए तो अदालत इस प्लांट की कमीशनिंग को रोक भी सकती है । नारायण सामी ने कहा कि हुकूमत अदालत में जवाब दाख़िल करते हुए अदालत को मुतमइन(संतुष्ट) करेगी । ये जवाब 4 अक्टूबर को दाख़िल किया जाएगा। कोडिंकलम न्यूक्लीयर पराजकट केख़िलाफ़ उसके ऐलान के वक़्त से ही अवामी एहतिजाज जारी है जिस में जापानी हो को शीमा न्यूक्लीयर प्रोजेक्ट में ताबकारी(घोषणा) के बाद मज़ीद शिद्दत(तीव्रता) पैदा होगई।

TOPPOPULARRECENT