अदम रवादारी पर आमिर ख़ान का तबसेरा बिलकुल‌ ग़लत: मर्कज़

अदम रवादारी पर आमिर ख़ान का तबसेरा बिलकुल‌ ग़लत: मर्कज़
Click for full image

नई दिल्ली: मर्कज़ी हुकूमत ने सुपर स्टार आमिर ख़ान के बढ़ती अदम रवादारी पर तबसेरे को ग़लत क़रार दिया और कहा कि इस तरह के बयानात से मुल्क और साथ ही साथ वज़ीर-ए-आज़म नरेंद्र मोदी की साख मुतास्सिर होगी। मर्कज़ी मिनिस्टर आफ़ स्टेट बराए दाख़िला किरण रिजीजू ने आज ज़राए इबलाग़ के नुमाइंदों से बातचीत करते हुए कहा कि आमिर ख़ान के अदम रवादारी पर तबसरे बिलकुल ग़लत हैं।

इस तरह के तबसेरों से मुल्क के इमेज मुतास्सिर होगी और वज़ीर-ए-आज़म मोदी की साख पर मनफ़ी असर पड़ेगा। 50 साला फ़िल्म अदाकार ने कल कहा था कि मुल्क में पेश आरहे बेशुमार वाक़ियात ने उन्हें चौंका दिया है और एक मरहले पर उन की अहलिया किरण राव‌ ने ये तजवीज़ रखी थी कि उन्हें शायद मुल्क छोड़कर जाना पड़े।

रिजीजू ने कहा कि मोदी हुकूमत के मई 2014 में इक़तिदार सँभालने के बाद से फ़िर्कावाराना वाक़ियात कम हुए हैं। उन्होंने बताया कि विज़ारत-ए-दाख़िला के आदाद-ओ-शुमार के मुताबिक़ जारिया साल फ़िर्कावाराना तशद्दुद के मुख़्तलिफ़ वाक़ियात में 86 अफ़राद हलाक हुए हैं जबकि साल 2014 में इसी मुद्दत में 90 अफ़राद हलाक हुए थे।

अक्टूबर तक फ़िर्कावाराना वाक़ियात की मजमूई तादाद में जारीया साल इज़ाफ़ा हुआ है और ये 630 रहे। जबकि 2014 -ए-में इसी मुद्दत के दौरान जुमला 561 फ़िर्कावाराना वाक़ियात पेश आए थे। 2013 में जब यू पी ए इक़्तेदार पर थी, ये तादाद 694 रही। ताहम इस में ज़्यादा असर मुज़फ़्फ़र नगर फ़सादात‌ का रहा जहां 90 से ज़्यादा लोग हलाक हुए थे।

Top Stories