Sunday , December 17 2017

अदम रवादारी पर मीडिया के सेकूलर जज़बे की सताइश : एन राम

मुंबई: अदम रवादारी के मसले पर जारी बेहस में हिन्दुस्तानी मीडिया के सेकूलर जज़बे की सताइश करते हुए सीनियर सहाफ़ी एन राम ने आज कहा कि किसी सेकूलर मुमलिकत में हर उस इक़दाम के ख़िलाफ़ कार्रवाई की जाती है जो दस्तूर में शामिल सेकूलरिज़म के मुग़ाइर होती है।

दी हिंदू के पब्लिशरस कस्तूरी ऐंड संस् के चेयरमैन एन राम ने कहा कि सेकूलरिज़म के उसूल हमारे दस्तूर की बुनियाद है। सेकूलरिज़म का मतलब ममलकत और हुकूमत, तमाम हक़ायक़ और हत्ता कि किसी मज़हब पर अक़ीदाना रखने वालों के लिए बिलकुल्लिया तौर पर ग़ैर जांबदार होती है।

इन राम आज यहां एक प्रेस मेट के दौरान मुख़्तलिफ़ सवालात का जवाब दे रहे थे। उन्होंने कहा कि मुमलिकत ग़ैर जांबदार होती है और सैकूलर ममलकत तमाम मज़ाहिब और अक़ाइद के मानने वालों का यकसाँ एहतेराम करती है। एन राम ने मज़ीद कहा कि सेकूलरिज़म से मेरी मुराद ये है कि मुमलिकत ख़ाह वो नाम निहाद अस्करीयत हो कि नाम निहाद अक़ल्लीयत किसी की भी जानिब से इस (सेकूलरिज़म) की ख़िलाफ़वरज़ी की सूरत में सख़्त कार्रवाई करती है।

उन्होंने कहा कि दी हिंदू सेकूलरिज़म का पाबंद और अलमबरदार है जिसने अपने पहले ईदारिया में लिखा था कि हम किसी भी मज़हबी तनाज़ात में शामिल नहीं होंगे।

TOPPOPULARRECENT