Monday , December 11 2017

अनील बासू का रिकार्ड तोड़ने में नाकाम

नरेंद्र मोदी ने अगरचे अपने क़रीबी हरीफ़ कांग्रेस के मधु सदन मिस्त्री को 5,70,128 वोटों की भारी अक्सरियत से मात दी लेकिन सी पी आई एम के अनील बासू की तरफ़ से बनाया गया, भारी अक्सरियत का रिकार्ड तोड़ने में नाकाम होगए।

नरेंद्र मोदी ने अगरचे अपने क़रीबी हरीफ़ कांग्रेस के मधु सदन मिस्त्री को 5,70,128 वोटों की भारी अक्सरियत से मात दी लेकिन सी पी आई एम के अनील बासू की तरफ़ से बनाया गया, भारी अक्सरियत का रिकार्ड तोड़ने में नाकाम होगए।

हलक़ा लोक सभा वदोदरा में बी जे पी ने वज़ारत-ए-उज़मा के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी अपने पहले पार्लीमानी मुक़ाबला में बासू के बाद दूसरी भारी अक्सरियत का रिकार्ड क़ायम किए हैं। अनील बासू 7 मर्तबा लोक सभा के रुकन मुंतख़ब होचुके हैं। उन्हों ने 2004 के इंतिख़ाबात में मग़रिबी बंगाल के हलक़ा आराम बाग़ से 5,92,502 वोटों की अक्सरियत से कामयाबी हासिल की थी जो मुल्क में सब से ज़्यादा अक्सरियत का रिकार्ड है जो मोदी की अक्सरियत से 22,374 वोट ज़्यादा हैं।

मौजूदा एल जे पी के सरबराह राम विलास पासवान ने 1989 में जनता दल के उम्मीदवार की हैसियत से बिहार के हलक़ा लोक सभा हाजी पुर से 5,04,448 वोटों की अक्सरियत से कामयाबी हासिल करते हुए रिकार्ड क़ायम किया था। पासवान ने 1979 में भारतीय लोक दल के उम्मीदवार की हैसियत से मुक़ाबला करते हुए 4,24,545 वोटों की अक्सरियत हासिल करते हुए भी एक रिकार्ड बनाया था लेकिन सी पी आई ऐम के अनील बासू ने 2004 में सब से ज़्यादा अक्सरियत हासिल करते हुए तमाम रेकॉर्ड्स तोड़ दिए थे और मोदी अपनी मक़बूलियत की ज़बरदस्त लहर के बावजूद ये रिकार्ड नहीं तोड़ सके।

इस तरह वो 5 लाख से ज़ाइद वोटों की अक्सरियत से कामयाबी हासिल करने वाले तीसरे सियासतदां बन गए हैं।

TOPPOPULARRECENT