Wednesday , December 13 2017

अन्ना हज़ारे पार्लीमैंट से बालातर( बङा) : केजरिवाल

नई दिल्ली /10 अक्तूबर (पी टी आई) अन्ना हज़ारे टीम के रुकन अरविंद कीजरवाल ने कहा कि अन्ना हज़ारे पार्लीमैंट से बालातर हैं और उन्हें एक शहरी की हैसियत से पार्लीमैंट पर दबाव डालने का हक़ हासिल है। बिलाशुबा अन्ना हज़ारे ने ख़ुद को पार्लीमै

नई दिल्ली /10 अक्तूबर (पी टी आई) अन्ना हज़ारे टीम के रुकन अरविंद कीजरवाल ने कहा कि अन्ना हज़ारे पार्लीमैंट से बालातर हैं और उन्हें एक शहरी की हैसियत से पार्लीमैंट पर दबाव डालने का हक़ हासिल है। बिलाशुबा अन्ना हज़ारे ने ख़ुद को पार्लीमैंट से बालातर बनाया है। हर शहरी को ये हक़ हासिल है कि वो पार्लीमैंट से अपना काम करने के लिए कही। अन्ना हज़ारे टीम के रुकन अरविंद कीजरवाल ने सी एन एन। आई बी उन के प्रोग्राम डेविल्स ऐडवोकेट में करण थापर को इंटरव्यू देते हुए बताया कि मलिक के शहरी पार्लीमैंट से ज़्यादा अहम हैं। दस्तूर ने उन्हें अहम मौक़िफ़ दिया है। अन्ना हज़ारे और हर शहरी सुप्रीम अथार्टी है। मैं समझता हूँ कि दस्तूर भी यही कहता है। उन्हों ने इन सवालात का जवाब दिया कि आख़िर एक शख़्स बरत रख कर अपनी धमकीयों को किस तरह मुंसिफ़ाना क़रार दे सकता है कि पार्लीमैंट में एक बिल मंज़ूर किया जाय और ये कि आया अन्ना हज़ारे ख़ुद को पार्लीमैंट से बालातर समझते हैं?। कीजरवाल ने हरियाणा के हलक़ा लोक सभा हिसार में पार्लीमैंट के ज़िमनी इंतिख़ाबात में कांग्रेस के ख़िलाफ़ मुहिम चलाने अन्नाहज़ारे के फ़ैसला को दरुस्त क़रार दिया और कहा कि ये हुक्मराँ पार्टी का फ़र्ज़ है कि वो जिन लोक पाल बिल मंज़ूर कराने को यक़ीनी बनाई। उन्हों ने ये भी कहा है कि अनाहज़ारे ने पूरी यू पी ए को ये कह कर बेचैन करदिया है कि वो कांग्रेस के ख़िलाफ़ मुहिम चलाईंगी। मुख़ालिफ़ कांग्रेस नारों के साथ तहरीक चलाने के फ़ैसला पर की जाने वाली तन्क़ीदों पर उन्हों ने कहा कि अन्नाहज़ारे की ये मुहिम उत्तरप्रदेश असैंबली इंतिख़ाबात में बी जे पी के ख़िलाफ़ होगी। अगर बी जे पी जिन लोक पाल बिल की हिमायत करने अपने वाअदा को पूरा नहीं करसकी तो इस के ख़िलाफ़ भी मुहिम चलाई जाएगी। अगर कोई भी जमात अपने वाअदा से मुकर जाय तो हम उस की भी मुख़ालिफ़त करेंगी। अन्नाहज़ारे ने हिसार में राय दहिंदों से अपील की है कि वो कांग्रेस को वोट ना दें, क्योंकि इस ने पार्लीमैंट में जिन लोक पाल बिल की ताईद करने का तीक़न नहीं दिया है। जब इस बात की निशानदेही की गई कि बी जे पी के सीनियर लीडर अरूण जेटली ने कहा है कि इन की पार्टी बिल के तमाम दफ़आत की हिमायत नहीं करेगी। कीजरवाल ने कहा कि फ़िलहाल हम बी जे पी सदर गडकरी के मकतूब का नोट ले रहे हैं, इस लिए फ़िलहाल हम ये नहीं कह सकते कि अरूण जेटली सही हैं या ग़लत। गडकरी सही कह रहे हैं या ग़लत, जो कुछ भी हो उन के वादों को पार्लीमैंट में परखा जाएगा। अगर बी जे पी अपने वाअदा को पूरा नहीं करेगी तो उसे भी देखा जाएगा ।

TOPPOPULARRECENT